ब्रेकिंग
भाजपा विधायक का समर्थक निकला धर्मांतरण मामले का मुख्य आरोपी सुनील जाखड़ भाजपा में हुए शामिल इंदौर में पिछड़ा वर्ग की पांच सीटें बढ़ेंगीं प्रदेश में सामाजिक सौहार्द बनाए रखना सर्वोच्च प्राथमिकता : मुख्यमंत्री चौहान जब मंटूराम ने मुख्यमंत्री को बताया कि पत्नी संग रातभर करता हूं गोबर की चौकीदारी औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर की पारेषण क्षमता में वृद्धि पीएम क‍िसान और राशन कार्ड के लाभार्थ‍ियों में हड़कंप, सरकार ने भेजा र‍िकवरी नोट‍िस फीचर फोन से बिना इंटरनेट भी आप कर सकते हैं UPI पेमेंट, ये है तरीका क्या जरूरी दवाइयों की कीमत कम होने वाली है? कल NPPA की बैठक में लिया जाएगा फैसला सच बोलो तो बदनाम करेंगे बड़े नेता : हार्दिक पटेल

त्रिपुरा में शादी समारोहों में छापेमारी के लिए डीएम ने मांगी माफी, गंदे व्यवहार पर हुई थी आलोचना

अगरतला। रात्रिकालीन कफ्र्यू के दौरान आयोजित शादी समारोहों में छापेमारी के लिए पश्चिमी त्रिपुरा के डीएम शैलेश कुमार यादव ने माफी मांगी है। उन्होंने एक समाचार चैनल से बात करते हुए कहा कि यदि मेरे कार्य से समाज के किसी भी व्यक्ति की भावना को चोट पहुंची हो तो कृपया वो मुझे माफ करें। कहा कि मैंने छापेमारी सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन कराने के लिए किया था। वहीं, दूसरी ओर राज्य के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने भी इसका संज्ञान लिया है। उन्होंने मुख्य सचिव से इस मामले की रिपोर्ट तलब की है।

गौरतलब है कि मुख्य सचिव मनोज कुमार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अगरतला के नगर निगम क्षेत्र में रात के 10 बजे से सुबह पांच बजे तक रात्रिकालीन कफ्र्यू लगाया है। सार्वजनिक स्थानों के इस्तेमाल को लेकर उन्होंने गाइडलाइन भी जारी की थी। जिलाधिकारी शैलेश कुमार यादव ने सोमवार देर रात शहर के दो विवाह मंडपों पर छापेमारी की थी। इन स्थानों पर जारी गाइडलाइन से कहीं ज्यादा संख्या में पुरुष और महिलाएं उपस्थित थे।

जिलाधिकारी के निर्देश पर पुलिस ने 19 महिलाओं सहित 31 लोगों को तत्काल हिरासत में ले लिया था। भारतीय जनता पार्टी के विधायकों सहित कुछ लोगों ने जिलाधिकारी पर दु‌र्व्यवहार का आरोप लगाया था। इनका कहना था कि जिलाधिकारी ने पुजारियों तक से धक्का-मुक्की की थी।