ब्रेकिंग
पेयजल संकटः सांसद साध्वी प्रज्ञा ने निगम कमिश्नर को लगाई फटकार, इधर नगरीय प्रशासन मंत्री ने किया ट्वीट- लिखा तत्काल जल आपूर्ति शुरू करें असम में लगातार बारिश से बाढ़ के हालात जनजीवन बुरी तरह प्रभावित Adani ग्रुप खरीदेगा अंबुजा सीमेंट्स और ACC लिमिटेड में Holcim India की हिस्सेदारी, 10.5 अरब डॉलर में हुई डील  सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की मैच्योरिटी से पहले निकासी पर कितना मिलेगा पैसा, RBI ने तय की दर बॉडी में एंट्री नहीं ले पाएगा गंदा कोलेस्ट्रॉल, बस इन टिप्स का रखें ध्यान सोमवार के दिन भाग्य में होगी वृद्धि या आर्थिक रूप से होगा नुकसान, पढ़ें, आज का अपना राशिफल शेयर बाजार में फिर गिरावट का दौर जारी मुख्यमंत्री चौहान संबल योजना के नये स्वरूप संबल 2.0 के पोर्टल का करेंगे शुभारंभ राहुल गांधी ने ऐसे कोई संकेत नहीं दिए कि वो पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ेंगे कांग्रेस चिंतन शिविर: राजस्थान से रायपुर लौटे CM बघेल, एयरपोर्ट पर कांग्रेसियों ने मिठाई खिलाकर किया स्वागत

भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक ने MSME को वित्तीय मदद देने के लिए पेश किए दो लोन उत्पाद

नई दिल्ली। सिडबी ने सूक्ष्म, छोटे तथा मझोले उद्योगों (एमएसएमई) को वित्तीय मदद देने के लिए कम ब्याज दरों वाले दो उत्पाद पेश किए हैं। भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) ने एक बयान में कहा कि इससे ये उद्योग कोरोना महामारी का मुकाबला करने के लिए जरूरी ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीमीटर और अन्य सामानों का निर्माण करेंगे और उनकी पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी।

सिडबी ने एमएसएमई सेक्टर को तेजी से कर्ज देने के लिए जिन दो उत्पादों की घोषणा की है, उनमें पहला एसएडब्ल्यूएएस या श्वास (कोरोना महामारी की दूसरी लहर के खिलाफ युद्ध में हेल्थकेयर सेक्टर को सिडबी की सहायता) है।

बैंक ने दूसरा उत्पाद एआरओजी यानी आरोग (एमएसएमई को भरपाई और सामान्य वृद्धि के लिए सिडबी की सहायता) नाम से लांच किया है। ये योजनाएं सरकार के मार्गदर्शन में तैयार की गई हैं। इनका मकसद ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, ऑक्सीमीटर और आवश्यक दवाओं की आपूर्ति से संबंधित उत्पादन और सेवाओं को वित्तीय मदद मुहैया कराना है।

इन योजनाओं में सभी दस्तावेजों या सूचनाओं के मिलने के 48 घंटों के भीतर 4.5 फीसद सालाना की निचली दर पर दो करोड़ रुपये तक की राशि एमएसएमई कंपनियों को दी जा सकती है।