ब्रेकिंग
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने जेपी हॉस्पिटल में स्वास्थ्य मेले की व्यवस्थाओं का जायजा लिया एकदंत संकष्टी चतुर्थी कल अप्रैल के जीएसटी कर भुगतान की तारीख बढ़ी वैश्विक स्तर पर अकेले वायु प्रदूषण से 66.7 लाख लोगों की मौत ऑनलाइन गेमिंग, कैसिनो पर 28 फीसदी जीएसटी लगाने की तैयारी, ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स ने दी प्रस्ताव को मंजूरी एक दिन की बढ़त के बाद फिसला बाजार, सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान में क्लोज, पॉवर ग्रिड सबसे ज्यादा लुढ़का पीएम आवास योजना को लेकर सरकार ने किया बड़ा ऐलान! सभी पर पड़ेगा असर कश्मीर घाटी में अभी और होगी बारिश, जम्मू में चल सकती है लू, अलर्ट जारी सुप्रीम कोर्ट ने एजी पेरारिवलन को रिहा किया फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया में आवेदन की प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जा सकती है

इन दिनों आवाज में नजर आए कुछ बदलाव, तो तुरंत कराएं कोरोना की जांच

जबलपुर। कोरोना की दूसरी लहर के साथ जटिलता और लक्षणों की लिस्ट लंबी होती जा रही है। धीरे-धीरे वो लक्षण भी सामने आ रहे हैं, जिस पर किसी का भी ध्यान नहीं है। खासतौर से आवाज में हो रहे बदलाव को लोग मामूली समझ रहे हैं, लेकिन यह कोरोना का लक्षण हो सकता है, कोई सपने में भी सोच नहीं सकता। अगर आपको भी अपनी आवाज कर्कश लगने लगी है या कुछ और चेंज लग रहे हैं, तो आपको कोरोना होने का संदेह है। डॉ.अजय तिवारी ने बताया कि कोरोना के लक्षण आते ही कई सारे चीजें बजल जाती है, लेकन यदि आपको अपनी आवाज में भी कुछ बदलाव नजर आ रहे हैं। तो इसे नजरअंदाज करना सही नहीं होगा। जांच कराएं और इलाज लें।

कोविड-19 मामलों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर ज्यादा खतरनाक है। डॉक्टर्स के अनुसार, बुखार, खांसी और गंध अब तक कोरोना के मुख्य लक्षण हैं। लेकिन अब इसके नए संकेत दिखाई देने लगे हैं। हो सकता है लोग इस लक्षण को आसानी से समझ न पाएं, लेकिन ध्यान देना बहुत जरूरी है।

आवाज में बदलाव कोरोना का नया संकेत: लोग कोरोना वायरस के चलते अपनी आवाज में बदलाव महसूस कर रहे हैं। कर्कश आवाज कोविड-19 का लक्षण हो सकता है। अध्ययन के अनुसार, कोरोना के प्रमुख लक्षणों के दौरान कुछ लोगों को अपनी आवाज टेढ़ी-मेढ़ी, तो कुछ को खुरदुरी लगी। जबकि तेज आवाज में बोलने वाले प्रतिभगियों को अपनी आवाज धीमी लगी और भारीपन महसूस हुआ।

​सामान्य लक्षणों को कभी न करें नजरअंदाज: आवाज में बदलाव जैसे असामान्य लक्षणों के साथ कोविड के सामान्य लक्षणों को कभी अनदेखा नहीं करना चाहिए।

जैसे-

बुखार यदि तीन दिन से ज्यादा बना हआ है, तो टेस्ट कराएं।

सूखी खासी की समस्या काफी वक्त से है, तो दवाओं के भरोसे ना रहे, जांच कराने जाएं।

गले में खराश को इस समय मामूली ना समझें। बल्कि दवा के बाद भी असर ना लगे, तो टेस्ट करा लें।

गर्मी के मौसम में भी नाक बह रही है या भर रही है, तो कोरोना होने की पूरी संभावना है।

सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ होने पर सीधे डॉक्टर के पास जाएं।

खाने में स्वाद ना आ रहा हो या गंध चली जाए, तो आपको कोरोना टेस्ट कराने की जरूरत है।

हमारी आवाज सबसे महत्वपूर्ण संचार साधनों में से एक है। इसलिए आवाज में बदलाव को लेकर जरा भी संदेह हो, तो देर न करते हुए सावधानी बरतें और खुद को कोरोना संक्रमण से बचाए रखें।

कई बार सर्दी-जुकाम के कारण आवाज में बदलाव आना संभव है, लेकिन इन दिनों आपकी आवाज थोड़ी सी भी बदल जाए, तो इसे नजरअंदाज नहीं करना। कोरोना का ये लक्षण हल्का जरूर है, लेकिन ध्यान नहीं दिया गया, तो समस्या लंबे समय तक बनी रह सकती है। इसलिए जितना जल्दी हो सके, टेस्ट करा लेना चाहिए। जब तक रिपोर्ट न आ जाए, खुद को अलग और सबसे दूर रखें।

मास्क पहने रहें। नियमित रूप से गुनगुने पानी से गरारे करने पर फायदा पहुंचेगा। इस दौरान कुछ भी ठंडा और गर्म खाने से बचें। ध्यान रखें शरीर में पानी की कमी न होने पाए, इसलिए खुद को हाइड्रेट रखने के लिए पानी पीते रहें। गले के दर्द को कम करने के लिए हर्बल उपचार भी अपना सकते हैं।