ब्रेकिंग
जिला पंचायत सदस्य पद के लिए दोबारा डाले जा रहे वोट, अब तक 60% वोटिंग लंबे समय बाद स्टेज पर दिखे शाहरुख खान कुछ सरल वास्तु उपाय जो घर मे लाएंगे बरक्कत डोमेस्टिक का चार्ज लगेगा, बिजली बिलों में 2 रुपए प्रति यूनिट का मिलेगा फायदा एक महीने में हुए चार 'दुराचारी सभा' में पहुंचे सिर्फ 844 हिस्ट्रीशीटर,दरी पर बैठना उन्हें नहीं पसंद बोले- 5 साल से कर रहा था तैयारी, अब बना राजस्थान का टॉपर गुरु अमरदास एवेन्यू के निवासियों ने ब्लॉक किया जीटी रोड, MLA के खिलाफ प्रदर्शन भूप्रेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा गांधीवादी तरीके से करेंगे विरोध, सरकार रद्द करके अग्निपथ फर्जी दस्तावेज तैयार कर कब्जाई थी जमीनें, पुलिस की गिरेबान पर हाथ डालने के बाद आया था चर्चा में सनी नागपाल भुवनेश्वर कुमार तोड़ेंगे पाकिस्तानी गेंदबाज का रिकॉर्ड

कई सेवाओं पर जीएसटी छूट वापस लेने की तैयारी

माल और सेवा कर  दरों की समीक्षा करने वाले मंत्रियों के एक समूह ने कई सेवाओं पर छूट को हटाने का प्रस्ताव दिया है। इसमें एक हजार रुपये से कम वाले होटल के कमरे और पांच हजार रुपये से ऊपर वाले अस्पताल के कमरे और वित्तीय क्षेत्र समेत कई सेवाएं शामिल हैं। जीएसटी काउंसिल की 28 जून की बैठक में इस सिफारिश पर फैसला हो सकता है।कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई की अध्यक्षता वाले समूह ने इलेक्ट्रॉनिक्स कचरे पर जीएसटी दर को पांच फीसदी से बढ़ाकर 18 फीसदी करने का भी प्रस्ताव रखा है। सूत्रों ने कहा कि जीओएम ने एक हजार रुपये से कम के होटल के कमरों पर 12 फीसदी की दर से जीएसटी लगाने का सुझाव दिया है। यह एक ऐसा कदम है जो होटल उद्योग के एक बड़े हिस्से को जीएसटी के दायरे में लाएगा।वर्तमान में एक हजार रुपये से कम कीमत वाले होटल के कमरों पर कोई जीएसटी नहीं लगाया जाता है। जबकि 1,001 और 7,500 रुपये के बीच टैरिफ वाले कमरों पर 12 फीसदी और उससे अधिक महंगे कमरों पर 18% जीएसटी लगता है। जीओएम ने 5,000 रुपये या उससे अधिक के दैनिक टैरिफ वाले अस्पताल के कमरों पर इनपुट टैक्स क्रेडिट के बिना फीसदी जीएसटी का सुझाव दिया है।