Jain
ब्रेकिंग
महू में दो गुटों में विवाद के बाद बम फोड़ा; 2 की मौत, 15 से ज्यादा घायल रोटी भी बदल सकती है किस्मत डीजीपी का सिल्वर मेडल भी आज लखनऊ में देंगे एडीजी जोन,खुशी की लहर देर शाम आई सभी के पास प्रशासन फोन कॉल, 30 स्वतंत्रता सेनानियों के आश्रितों किया गया था आमंत्रित आजादी के अमृत महोत्सव के लिए रंग बिरंगी रोशनियों से सजा ग्वालियर दुगरी फेस-1 में हुआ हमला,अदालत में गवाही न देने के लिए हमलावर बना रहे थे दबाव भाजयुमो के मंत्री ने कार के सन रूफ से निकलकर झंडे की फोटो की थी पोस्ट 100 फूट ऊंचा लहरा रहा तिरंगा,लाइटों से जगमगाया शहर, दुल्हन की तरह सजी सड़कें रैली निकालकर लगाए भारत माता की जयकारे, बच्चों और ग्रामीणों ने किया समरसता भोज राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने किया ध्वजारोहण

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने द्रौपदी मुर्मू को लेकर, अपनी ही पार्टी को नसीहत दे डाली है

भोपाल ।   पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने अपनी ही पार्टी (भाजपा) के नेताओं को नसीहत देते हुए कहा कि राजनीतिक लाभ के लिए राष्ट्रपति पद की प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू की सांस्कृतिक पहचान का इस्तेमाल न करें। उन्होंने साफ कहा कि भाजपा के लोगों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि भारत का राष्ट्रपति देश का संवैधानिक मुखिया होता है, वह किसी जातीय दायरे में नहीं होता। इसलिए इसका राजनीतिक लाभ लेने की लालसा से वक्तव्य नहीं देना चाहिए। उमा भारती की यह प्रतिक्रिया तब आई है, जब द्रौपदी मुर्मू को एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद प्रदेश भाजपा कार्यालय में गुरुवार को सभी आदिवासी जनप्रतिनिधियों द्वारा जश्न मनाया गया था। उन्होंने कहा कि द्रौपदी मुर्मू को एनडीए द्वारा राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी बनाना उन पर कोई एहसान नहीं है, वह हर तरह से योग्य महिला हैं। शैक्षिक योग्यता, समाज सेवा का समदर्शी भाव एवं संयमित संस्कारित जीवन, मन, वचन एवं कर्म की संगति का सधा हुआ मेल है। भारत का राष्ट्रपति बनने के लिए इसके अलावा और क्या चाहिए? इसलिए उनकी अपनी योग्यता ही इस पद की उम्मीदवारी के चयन का आधार है। भारती ने मुर्मू को बधाई और शुभकामनाएं भी दीं।