ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

60 कोविड सेंटरों ने कभी दिया ही नहीं इंसीनेटर को कचरा

ग्वालियर। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाने वाले अफसरों के लिए यह पैरों तले जमीन सरकाने वाली खबर है कि उनके ही शहर के 60 कोविड केयर सेंटरों ने आज तक इंसीनेटर को बायो मेडिकल वेस्ट नहीं दिया। यह वो कचरा है जो कोविड केयर में भर्ती मरीजों के ट्रीटमेंट के दौरान जनरेट होता है, इसमें पीपीइ किट,ग्लब्ज,सीरिंज,शीट आदि सामान होता है। यह कचरा कैंसर पहाड़ी से लेकर शीतला माता मंदिर की पहाड़ी पर फेंका जा रहा है। कोरोना संक्रमण का इलाज करने वाले ये अस्पताल खुद लोगों की जान खतरे में डाल रहे हैं। ग्वालियर में इस शर्मनाक करतूत की खबर तक संबंधित जिम्मेदाराें को नहीं है, जिसमें पहले नंबर पर मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ग्वालियर आता है।

कोविड महामारी में मरीजों के इलाज के दौरान निकलने वाले कचरे के निष्तारण के लिए शासन ने गाइडलाइन तय की है। इस गाइडलाइन के तहत इस कचरे के निष्तारण के लिए इसे संक्रमण मुक्त कर इंसीनेटर को देना होता है। इंसीनेटर वाले इस कचरे को तेज आग में जलाकर राख कर देते हैं । जिससे कचरे में जमा सारा संक्रमण खत्म हो जाता है। इसके लिए प्रति किलो कचरे के हिसाब से 60 रुपये लिए जाते हैं। साथ ही 1500 रुपये कचरे के ट्रांसपोर्टेशन के लगते हैं। इस पैसे को बचाने के लिए कोविड सेंटर चला रहे अस्पताल कचरे को खुले में ऐसे स्थानों पर फेंक रहे हैं, जहां लोग घूमने जाते हैं।

ये हैं वे हद दर्जे के लापरवाह अस्पताल:कभी नहीं किया कॉलः जॉय हास्पिटल, सोहम अस्पताल, चौधरी नर्सिंग होम, सुयश रिसर्च सेंटर, निदान हार्ट एंड मेटरनिटी हास्पिटल, जनक हास्पिटल, बंसल हास्पिटल, ममता हास्पिटल, चंद्रा हास्पिटल, पीतांबरा हास्पिटल, सर्वाेदय हास्पिटल, संकल्प हास्पिटल, रमादेवी स्मृति हास्पिटल, प्रसाद नर्सिंग होम, मां शीतला मल्टी स्पेशियलिटी हास्पिटल, वैभव मैमोरियल हास्पिटल, जीवन सहारा हास्पिटल, नक्षित हास्पिटल, फैमिली केयर हास्पिटल, भारत हास्पिटल, चौधरी चैरिटेबल हास्पिटल, इंडस हास्पिटल, बंसल हास्पिटल, सहयोग हास्पिटल, मां कैलादेवी हास्पिटल, अारोग्य मेडिसिटी हास्पिटल, चिराग हास्पिटल, गालव हास्पिटल, कौल हास्पिटल, उपाध्याय हास्पिटल, गुप्ता नर्सिंग होम, आलोक नर्सिंग होम, एमएस हास्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, पल्स हास्पिटल, लाइफ केयर हास्पिटल, प्राइम हास्पिटल, कार्तिक हास्पिटल, कुशल हास्पिटल, प्रताप हास्पिटल, सिद्वांत हास्पिटल, न्यू सक्षम हास्पिटल, श्री विनायक मल्टी स्पेशियलिटी हास्पिटल, शांता नर्सिंग होम, वेदांत हास्पिटल, राठी हास्पिटल, न्यू लाइफ हास्पिटल, परिवार हास्पिटल, सेंट जोसेफ हास्पिटल, सुपर आयुष्मान हास्पिटल, ग्लोबल स्पेशियलिटी हास्पिटल, ऋषिश्वर हास्पिटल, साईं हास्पिटल, लोटस हेल्थ केयर, मल्टी स्पेशियलिटी हास्पिटल, सालासर हास्पिटल, चिरायु मल्टी स्पेशियलिटी, परिधि हास्पिटल, केएम हास्पिटल, राधेश्याम हास्पिटल ने आज तक कचरा संग्रहण के लिए एक भी बार इंसीनेटर सेंटर को कॉल नहीं किया है।

प्रदूषण नियंत्रण: क्षेत्रीय अधिकारी ने नहीं उठाया फोनः नईदुनिया ने इस गंभीर समस्या को लेकर मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी एनपी सिंह को मोबाइल पर कॉल किया लेकिन कई बार कॉल करने पर भी उन्होने फोन नहीं उठाया।

वर्जन-

इंसीनेटर को कचरा न देने वाले निजी अस्पतालों से जानकारी जुटाई जाएगी कि उन्होंने कब कचरा दिया या नहीं। कचरा न देने वाले अस्पतालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

शिवम वर्मा ,आयुक्त,नगर निगम

वर्जन-

मेरे पास कोविड सेंटर बनाए गए हास्पिटलों में से मात्र 15-20 हास्पिटलों के ही कचरा निष्तारण के लिए कॉल आता है। वहां पर हमारी प्रतिदिन गाड़ी जाती है, बाकी के हास्पिटलों से मार्च से आज तक हमारे पास कचरे को एकत्रित करने के लिए कॉल नहीं आया है न ही हमारी गाड़ी गई है।

संजय, इंसीनेटर ,सुपरवाइजर