ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

जागरूकता ही साइबर क्राइम से बचाव का बड़ा हथियार: पारिख

बिलासपुर। आज का सतर्क युवा ही देश का सुनहरा भविष्य है। कोरोनाकाल में जहां आनलाइन खरीदारी बढ़ी है तो वहीं साइबर अपराध का ग्राफ भी बढ़ा है। तकनीक ने हमारे जीवन को सुविधा दी है पर इंटरनेट मीडिया और विभिन्न् माध्यमों से हमारी निजी सूचनाएं व जानकारियां भी सार्वजनिक हो रही हैं। इसीलिए साइबर क्राइम व आनलाइन ठगी एक आम समस्या बन गई है। इससे तभी बचा जा सकता है जब हम आनलाइन ट्रांजेक्शन करते समय सतर्क व जागरूक रहें।

ये बातें फाइनेंशियल एजुकेशनल की ट्रेनर शंकुतला पारिख ने कही। वे कोटा स्थित शासकीय निरंजन केशरवानी महाविद्यालय में साइबर क्राइम से बचाव एवं वित्तीय जागरूकता पर आयोजित कार्यक्रम की मुख्य वक्ता थीं। महाविद्यालय के वाणिज्य विभाग, अर्थशास्त्र विभाग, राष्ट्रीय सेवा योजना, बांबे स्टाक एक्सचेंज और पगडंडी एजूसोल प्राइवेट लिमिटेड की ओर से आयोजित इस वित्तीय जागरूकता कार्यक्रम को आनलाइन किया गया।

इस दौरान मुख्य वक्ता ने कहा कि यदि आप अपना ईमेल दूसरे व्यक्ति के कंप्यूटर, मोबाइल या साइबर कैफे में खोलते हैं तो काम खत्म होने के बाद उसे निश्चित रूप से लागआउट कर दें। बैंक, कार्यालय समेत अन्य कार्यों से जुड़े पासवर्ड को गोपनीय रखें और समय-समय पर इन्हें बदलते रहें।

बांबे स्टाक एक्सचेंज की ओर से ट्रेनर मोहम्मद जफरुद्दीन ने विद्यार्थियों से बचत व सही निवेश की आवश्यकता के विभिन्न् पहलुओं पर बल देते हुए बताया कि विश्वव्यापी कोविड जैसी महामारी के समय में परिवार की आर्थिक सुरक्षा, भविष्य की बेहतरी, स्वास्थ, शिक्षा एवं अन्य सामाजिक आवश्यकता की पूर्ति के लिए जिस रकम की जरूरत होगी वह कहां से प्राप्त होगी।

कार्यक्रम के संयोजक वाणिज्य विभाग के प्रो. शितेष जैन ने बताया कि कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों में वित्तीय जागरूकता के साथ ही निवेशकों के हितों की सुरक्षा करना है, ताकि वे अपने विकल्पों का चयन अच्छी तरह से समझ-बूझकर कर सकें।

अर्थशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष डा. संजू पांडेय ने बताया कि साइबर ठगी से बचने के लिए प्राइवेसी और जागरूकता दोनों जरूरी है। गोपनीय डाटा लीक होने का फायदा ही साइबर अपराधी उठाते हैं। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में शिवम अग्रवाल, अंजली, आयुषी निकिता, पूजा, प्रतिभा, प्रियंका, रीना, प्रगति व सुरभि दुबे की विशेष भूमिका रही।