मोदी सरकार के दौरान घटी राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति की औसत उम्र

रामनाथ कोविंद और द्रौपदी मुर्मू के राष्ट्रपति बनने से पहले औसत उम्र 71.9 वर्ष थी। मुर्मू के राष्ट्रपति बनने के बाद यह घटकर 71.4 वर्ष हो गई। राष्ट्रपति का पद ग्रहण करने वाले सबसे उम्रदराज 1894 में जन्मे वीवी गिरि थे, जो 75 वर्ष की आयु के थे।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल के बाद से देश के राष्ट्रपतियों व उपराष्ट्रपतियों की औसत उम्र में कमी आई है। सबसे कम उम्र में द्रौपदी मुर्मू देश की राष्ट्रपति बन चुकी हैं। उन्होंने पिछले 40 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। वहीं पूर्व उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू 10 अगस्त को सेवानिवृत्त हुए। ऐसे में वह भी 1979 के बाद सेवानिवृत्त होने वाले सबसे कम उम्र के उपराष्ट्रपति थे।दरअसल, रामनाथ कोविंद और द्रौपदी मुर्मू के राष्ट्रपति बनने से पहले औसत उम्र 71.9 वर्ष थी। मुर्मू के राष्ट्रपति बनने के बाद यह घटकर 71.4 वर्ष हो गई। वहीं, अगर उनके पांच साल के कार्यकाल को ध्यान में रखा जाए, तो राष्ट्रपतियों की औसत सेवानिवृत्ति की उम्र मौजूदा 76.8 से घटकर 76.3 साल हो जाएगी। बता दें, पद ग्रहण करने वाले सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति 1894 में जन्मे वीवी गिरि थे, 75 वर्ष की आयु के थे।