संविधान और लोकतंत्र की रक्षा का लिया संकल्प, भ्रमण कर दिया राष्ट्रीयता का संदेश

उमरिया: उमरिया में कांग्रेस ने शनिवार को तिरंगा यात्रा निकाल कर जनमानस को राष्ट्रीयता का संदेश दिया। साथ ही लोकतंत्र और संविधान की रक्षा की शपथ ली। कांग्रेस की यात्रा गांधी चौक से प्रारंभ हो कर जय स्तंभ से पुन: चौक पर वापस पहुंच कर संपन्न हुई। इस दौरान भारत माता, देश के अमर शहीदों और महान नेताओं के सम्मान में नारे लगाए गए।पहली बार संजय मार्केट में फहराया तिरंगागांधी चौक में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मप्र कांग्रेस कमेटी के महासचिव और पूर्व विधायक अजय सिंह ने कहा कि राष्ट्रवाद और देशभक्ति हमें विरासत में मिली है। 15 अगस्त 1947 को जब भारत आजाद हुआ तो उमरिया के गणमान्य नागरिकों ने तब संजय मार्केट के पास पहुंच कर ध्वजारोहरण किया था। यह परंपरा आज भी जारी है। यहां के लोग सब कुछ सह सकते हैं, लेकिन भारत की संप्रभुता से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं करेंगे।छद्मवेशियों से सतर्क रहें नागरिकपूर्व विधायक अजय सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय ध्वज देश की संप्रुभता का प्रतीक है। वहीं लोकतंत्र और संविधान इस देश की आत्मा है। कतिपय ताकतें अपने निजी स्वार्थ के वश में आकर इन पर बार-बार आक्रमण कर रही हैं। ये वहीं शक्तियां हैं, जिन्हें तिरंगे को अपनाने में 50 वर्ष से भी ज्यादा समय लग गया।