ब्रेकिंग
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गांधी जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना 'महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना' के शुभारंभ महिला श्रमिक की मौत पर की खबर के बाद जागे परिवहन विभाग और ट्रैफिक पुलिस, नामली थाना क्षेत्र में की कार्रवाई AIIMS : ड्यूटी के दौरान मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर बैन अब तक 7 के शव बरामद, आईएएफ ने 2 चीता हेलीकॉप्टर किए तैनात, 8 लोगों का सफल रेस्क्यू क्या Pavitra Punia- Ejaz Khan ने  कर ली सगाई? दशहरे के दिन ही खुलता है रावण के इस मंदिर का द्वार खुद स्टार्ट किया पम्पिंग सेट, कहा- पशुओं में दूध की होती है वृद्धि हटाए गए कर्मियों को नौकरी देने की मांग, 19-20 को करेंगे भूख हड़ताल रेलवे स्टेशन पर रेलकर्मी को बदमाशों ने पीट-पीट कर किया घायल, की लूटपाट मिनी सचिवालय तक निकाला रोष मार्च, डीसी को केंद्र सरकार के लिए सौंपा ज्ञापन

फतेहाबाद में 2 शिकायतों के बाद सेंट्रल बैंक की जांच में खुलासा; हैड कैशियर पर FIR

फतेहाबाद। हरियाणा के फतेहाबाद में टोहाना में चंडीगढ़ रोड स्थित सेंट्रल बैंक में मृतकों के 35 खातों से 5 लाख 42 हजार रुपए की राशि निकाल ली गई। इन खातों से 53 बार ट्रांजैक्शन हुआ है। पुलिस ने बैंक के हेड कैशियर रवि कुमार के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।ये था मामलाटोहाना पुलिस को दी शिकायत में बैंक के रिजनल मैनेजर धीरज गोयल बताया कि बैंक को दो मृतकों के खातों से पैसे निकाले जाने की शिकायत मिली थी। पहली शिकायत में गांव सिंबल वाला निवासी जंगीर सिंह ने बताया कि उसकी माता हरदेव कौर की मृत्यु होने के बाद 28 जनवरी 2020 को बैंक खाते से 62 हजार रुपए निकाले गए। इसके बाद एक दूसरी शिकायत में गांव पारता निवासी बंसीलाल ने बताया कि उसके पिता भागीरथ की मृत्यु के उपरांत 30 अक्टूबर 2019 को उसके बचत खाते से 2 बार मे 19 हजार रुपए निकाले गए।दो शिकायतों के बाद जांच में खुला भेदबैंक ने पहली शिकायत को तो स्टैंड अलोन मामला माना। लेकिन दूसरी शिकायत मिलने के बाद शाखा प्रबंधक वैशाली ने सूचना उन्हें दी। इसके बाद बैंक ने जांच की तो पता चला कि 35 खातों से 5 लाख 42 हजार 564 रुपए की रकम निकली गई है। थाना प्रभारी राजपाल सिंह ने बताया कि सेन्ट्रल बैंक के उच्च अधिकारियों के द्वारा रवि हेड कैशियर के खिलाफ मृतकों के खाते से फर्जी तरीके से रुपए निकालने की शिकायत दी है। पुलिस ने रवि कुमार हेड कैशियर के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं मे केस दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।कैशियर ने अपने खिलाफ साजिश बताईदूसरी तरफ आरोपी कैशियर रवि का कहना है कि उन्हें फील्ड में भेज दिया जाता था। पीछे से सभी ट्रांजैक्शन की जाती थी। उन्हें भी तब इस बारे में पता चला। जब इस मामले की जांच शुरू हुई। उन्होंने बताया कि पूरी ट्रांजैक्शन में उनका कोई रोल नहीं है, उन्हें फंसाया गया है।