ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

Cyclone Yaas: आफत की दस्तक- बंगाल हाई अलर्ट पर, शक्तिशाली होता जा रहा साइक्लोन ‘यास’

कोलकाता । बंगाल की खाड़ी में उत्पन्न साइक्लोन ‘यास’ क्रमशः शक्तिशाली होता जा रहा है और पश्चिम-उत्तर पश्चिम दिशा में बढ़ रहा है। कोलकाता स्थित अलीपुर मौसम कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक

अगले 24 घंटे में इसके अति शक्तिशाली साइक्लोन में तब्दील होने की आशंका है। 26 मई की सुबह तक यास बंगाल और उत्तरी ओड़िशा के तटवर्ती इलाकों में आ धमकेगा और उसी शाम ओड़िशा के पारादीप और बंगाल के सागर द्वीप के बीच से होकर गुजरेगा। उस दौरान बंगाल और ओड़िशा में भारी नुकसान की आशंका जताई जा रही है।

चक्रवात के दौरान 165 से 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने का अनुमान है। बंगाल और ओड़िशा के कई जिलों में अत्यधिक भारी बारिश होगी। इसके साथ ही पड़ोसी राज्य सिक्किम में भी भारी बारिश हो सकती है। 24 से 26 मई तक बंगाल, ओड़िशा व बांग्लादेश के तटीय इलाकों में समुद्र अशांत रहेगा। यास को लेकर बंगाल हाई अलर्ट पर है। राज्य सचिवालय नवान्न में एक कंट्रोल रूम खोला गया है, जहां से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पिछले साल आए सुपर साइक्लोन ‘एम्फन’ की तरह ही यास से प्रभावित होने वाले इलाकों पर नजर रखेंगी।

साइक्लोन के मद्देनजर बंगाल में लंबी दूरी की 74 ट्रेनों को रद कर दिया गया है। इसके साथ ही तूफान के समय ट्रेनों को चेन से बांधकर रखने का भी निर्णय लिया गया है ताकि उनके पलटने से कोई बड़ी दुर्घटना न हो पाए। मछुआरों को समुद्र में जाने से मना किया गया है। जो मछुआरे पहले ही मछलियां पकड़ने समुद्र में जा चुके हैं, उनसे संपर्क कर सोमवार सुबह तक लौट आने को कहा जा रहा है। समुद्र तट के पास रहने वाले लोगों को वहां से हटने के लिए कहा जा रहा है।

यास’ के संभावित खतरे से निपटने के लिए भारतीय नौसेना ने अपने चार युद्धपोतों के अलावा कई विमानों को भी तैनात किया है। बंगाल में एनडीआरएफ व एसडीआरएफ की टीमें भी मुस्तैद हैं।