ब्रेकिंग
सतगुरू कबीर संत समागम समारोह दामाखेड़ा पहुंच कर विधायक इन्द्र साव ने लिया आशीर्वाद विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद

मंदिरों में पुजारी के साथ दो श्रद्धालु कर सकेंगे दर्शन, सरकारी कार्यालयों में 50 फीसद तक बुलाए जाएंगे कर्मचारी

भोपाल । प्रदेश में एक जून से कोरोना कर्फ्यू में सरकार राहत देने जा रही है। इसकी रूपरेखा तय करने के लिए गृहमंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा की अध्यक्षता में गुरुवार को मंत्री समूह की बैठक हुई। इसमें सहमति बनी कि बाजार खुलें लेकिन मॉल, सिनेमाघर और पड़ोसी राज्यों की सीमाएं फिलहाल बंद रहें। राजनीतिक और धार्मिक कार्यक्रम भी न हों। मंदिरों में पुजारी के साथ दो श्रद्धालुओं को दर्शन करने की अनुमति दी जाए। सरकारी कार्यालयों में 50 फीसद तक कर्मचारी बुलाए जाएं। समिति अनलॉक के दिशानिर्देश तय करने को लेकर सोमवार को फिर बैठक करेगी। 30 मई को सभी जिला आपदा प्रबंधन समूहों की बैठक होगी, जिसमें अनलॉक को लेकर रणनीति बनाई जाएगी।

मंत्रालय में हुई बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह डॉ.राजेश राजौरा ने बताया कि कोरोना संक्रमण की स्थिति लगातार नियंत्रित होती जा रही है। इसके मद्देनजर कर्फ्यू में राहत देने की शुरुआत पांच जिलों से की गई है। इसके नतीजे संतोषजनक रहे हैं। सरकार ने एक जून से अनलॉक करने का निर्णय लिया है। इसमें एकदम से चीजें खोलने की जगह चरणबद्ध तरीके से छूट दी जाएगी।

गृहमंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि मंत्री समूह के अलावा अन्य माध्यमों से सुझाव लेकर अनलॉक की रणनीति को अंतिम रूप दिया जाएगा। इसके लिए 30 मई को सभी जिला आपदा प्रबंधन समूह बैठक होगी। इनके सुझाव देर शाम तक गृह विभाग को मिल जाएंगे। इसके आधार पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान चर्चा करके प्रदेश के लिए दिशानिर्देश को अंतिम रूप देंगे। इन्हें 31 मई को जारी किया जाएगा।

शादी समारोह में दोनों पक्षों से 20-20 लोग हो सकेंगे शामिल

बैठक में इस बात पर सहति बनी कि शादी समारोह में वर और वधू पक्ष से 20-20 लोगों को शामिल होने की छूट दी जानी चाहिए। इसमें कोरोना गाइडलाइन का पालन दोनों परिवारों को करना होगा। वहीं, मृत्यु भोज में अधिकतम 20 लोग ही उपस्थित हो सकेंगे। दाह संस्कार में भी इतने ही लोगों को शामिल होने की अनुमति रहेगी।

निर्माण कार्य भी चलेंगे

आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए बाजार खोले जांएगे। निर्माण कार्य और सर्विस प्रोवाइडर संबंधी गतिविधियां चालू रखने पर बैठक में सहमति बनी। पंजीयन और कृषि से जुड़े कार्यालय खुलेंगे। रेस्टोरेंट में बैठकर खाना खाने की सुविधा फिलहाल बंद रहेगी लेकिन घर ले जाने के लिए पार्सल की सुविधा रहेगी। बाजार में दुकान के बाहर गोले बनाने होंगे ताकि शारीरिक दूरी का पालन सुनिश्चित हो सके। दुकानदार और सभी कर्मचारियों को मास्क अनिवार्य रूप से लगाना होगा। ऐसी जगह जहां भीड़ एकत्र होती है, वहां सख्ती बरती जाएगी। हवाई यात्रा चालू रहेंगी।

एक जून से खुलेंगी शराब दुकानें

प्रदेश में एक जून से शराब दुकानें भी खुलेंगी। वर्ष 2021-22 की आबकारी नीति के तहत ठेकों का नवीनीकरण एक जून 2021 से 31 मार्च 2022 तक के लिए किया गया है। हालांकि, दुकान के बाहर भीड़ न लगे और कोरोना गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित कराने की जिम्मेदारी दुकान संचालक की रहेगी।

भोपाल-इंदौर धीरे-धीरे होंगे अनलॉक

बैठक में सुझाव आया कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर सहित उन अन्य शहरों में एकदम से अनलॉक नहीं करना चाहिए, जहां संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। भोपाल सहित इन शहरों में ऑड ईवन फॉर्मूले के आधार पर कर्फ्यू से राहत दी जा सकती है। साथ ही जिन स्थानों पर संक्रमण के प्रकरण आ रहे हैं, वहां कंटेनमेंट जोन बनाकर प्रतिबंध लागू रखे जाएं।