ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

यात्रियों के साथ अब मवेशी मालिकों को भी समझाइश दे रहे आरपीएफ के जवान

भोपाल। रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में यात्रियों की सुरक्षा करने वाले आरपीएफ के जवान अब मवेशी मालिकों को भी समझाइश दे रहे हैं। ये जवान अपने थाना और चौकी क्षेत्रों में रेलवे ट्रेक के किनारे बसे गांवो में जाकर लोगों से कह रहे हैं कि रेलवे ट्रैक के आसपास मवेशियों को ना जाने दें। अकेला और खुला तो बिल्कुल ना छोड़ें। निगरानी के अभाव में कई बार मवेशी रेलवे ट्रैक पर आ जाते हैं और ट्रेन की चपेट में आकर मौत हो जाती है। इससे मवेशी मालिकों को तो नुकसान होता ही है, ट्रेनों की गति भी प्रभावित होती है। किसी दिन बड़ा हादसा भी हो सकता है इसलिए मवेशियों को रेलवे ट्रैक के आसपास आने से रोकने के लिए यह कवायद की जा रही है।
भोपाल रेल मंडल की तरफ से बताया गया है कि कुछ मवेशी मालिकों के गैर-जिम्मेदाराना रवैया के कारण मवेशियों के रेल पटरी पर आने की घटना बढ़ रही है। इन्हें रोकने के लिए पूरे मंडल में जन-जागरण अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत मंडल के सभी आउट पोस्टों के प्रभारियों तथा रेल पथ निरीक्षकों के नेतृत्व में रेल सुरक्षा बल कार्मियों द्वारा अपने कार्यक्षेत्र में रेल पटरी के किनारे मवेशियों को चराने वाले लोगों से मिलकर उनको समझाया जा रहा है। इसी सिलसिले में रेल सुरक्षा बल आउटपोस्ट होशंगाबाद द्वारा होशंगाबाद पवारखेड़ा के बीच रेल लाइन के किनारे बसे गाँव बुधवाङा, आगरा, ब्यावरा एवं आदमगढ के लोगों को जागरूक किया।
हो सकती है छह माह की जेल
समझाइश देने के बावजूद रेलवे ट्रैक के आसपास मवेशी खुले छोड़े और उनके ट्रैक पर आने से कोई रेल घटना दुर्घटना हुई तो संबंधित मवेशी मालिक के खिलाफ रेलवे धारा 147 के तहत कड़ी कार्रवाई कर सकता है। इसके तहत छह महीने की जेल और 500 व 1000 रुपए के जुर्माने का नियम है। डीआरएम उदय बोरवणकर की तरफ से ने कहा है कि नुकसान से बचने के लिए मवेशी मालिकों को अपने मवेशी रेलवे ट्रैक के आसपास खुले नहीं छोड़ने चाहिए।