ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

सोते समय झूले के सेफ्टी बेल्ट में फंसी सात माह के मासूम की गर्दन, मौत

भोपाल। अरेराहिल्स थाना क्षेत्र के भीमनगर बस्ती में मंगलवार दोपहर हादसा हो गया। झूले में सोते समय सात माह के मासूम की गर्दन सेफ्टी बेल्ट में फंसने से मौत हो गई। घटना के समय मां और पिता अपने-अपने काम पर गए थे। घर में मासूम की देखभाल के लिए दस साल के बेटे को छोड़ गए थे। पुलिस ने मर्ग कायम जांच शुरू कर दी है।
अरेरा हिल्स थाने के एएसआइ गंगाराम वर्मा ने बताया कि भीमनगर निवासी शिवनारायण मेहरा आटो चलाता है। वह अपनी पत्नी और दो बच्‍चों साथ रहता है। पत्नी चार इमली स्थित पौधों की नर्सरी में काम करती है। मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे वह अपने सात माह के बेटे हरिनारायण को घर में छोड़कर नर्सरी चली गई थी। शिवनारायण भी ऑटो लेकर काम पर चला गया। रोज की तरह वह सात माह के बेटे हरिनारायण की देखभाल के लिए बड़े बेटे नवीन को घर पर छोड़कर गई थी। नवीन ने हरिनारायण को झूले में सुला दिया था। झूले से बच्चा गिर न जाए, इसलिए सेफ्टी बेल्ट लगा दिया था। छोटे भाई को सुलाने के बाद नवीन को भी नींद आ गई, तो वह सो गया। दोपहर एक बजे नींद टूटी तो उसने देखा जिस झूले में उसका भाई सो रहा था, वह खड़ा हो गया और उसके भाई की गर्दन उसके सेफ्टी बेल्ट में फंसी है। वह दौड़कर पड़ोस में गया और लोगों को लेकर आया। इसके बाद लोगों ने फोन लगाकर बच्चे के पिता और मां को सूचना दी।
बच्चे को लेकर परिजन जेपी अस्पताल पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने चेक करने के बाद उसे मृत घोषित कर दिया।
जांच अधिकारी गंगाराम का कहना है कि जिस झूले में बच्चा सो रहा था, वह बाजार में मिलने वाला रेडीमेड झूला है। झूले के बीच में बच्चे की सुरक्षा के लिए सेफ्टी बेल्ट लगा है। जांच में ऐसा लग रहा है कि बच्चा सोते समय झूले में घिसटता हुआ एक तरफ हो गया, जिससे वजन बढ़ने से झूला खड़ा हो गया और बच्चे की गर्दन बेल्ट में फंस गई।