विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र बुलाने का एक ही मकसद भानूप्रतापपुर चुनाव, विधायक शिवरतन शर्मा, मंत्री मोहम्मद अकबर के बीच हुई तीखी बहस


रायपुर। आरक्षण बिल को लेकर विशेष सत्र के दौरान विधानसभा में काफी हंगामा देखने में आया। भाटापारा विधायक शिवरतन शर्मा विधि मंत्री मोहम्मद अकबर के बीच हुई तीखी बहस। जहां सरकार आदिवासियों की नाराजगी को दूर करने के लिए उनके आरक्षण को पुनः बहाल कर दी, वही आर्थिक तौर पर गरीब को10 से 4 प्रतिशत तक सीमित कर दिया । भाजपा जहा एक तरफ आरक्षण को भानुप्रताप पुर चुनाव से जोड़ते हुए चुनावी रेवड़ी बता रही है,वहीं कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी की मंशा पर सवाल खड़े कर रही है। भाटापारा विधायक शिवरतन शर्मा सत्ता पक्ष पर जमकर बरसे सीधे मुख्यमंत्री पर सवाल खड़े करते हुए विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा जो लोग आरक्षण को लागू न करने को लेकर कोर्ट गए थे, उन्हें सरकार पुरस्कृत कर रही है, इससे स्पष्ट होता है कि, मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ की जनता को आरक्षण देना नहीं चाहते, उन्होंने आगे कहा कि 2012 में आरक्षण संशोधन भाषण के दौरान विधि मंत्री मोहम्मद अकबर ने 50% सीलिंग से ऊपर आरक्षण होने पर कहा था राजपाल से यह वापस आ जाएगा। सरकार का मकसद विशेष सत्र बुलाने का केवल भानूप्रतापपुर चुनाव है।उन्होंने आगे एससी आरक्षण 13% से 16% करने हेतु तथा ईडब्ल्यूएस आरक्षण को 4% से 10% करने हेतु आरक्षण बिल में संशोधन की बात करते हुए बिल का समर्थन करने की बात कही।