ब्रेकिंग
सतगुरू कबीर संत समागम समारोह दामाखेड़ा पहुंच कर विधायक इन्द्र साव ने लिया आशीर्वाद विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद

देवास जिले में महिला अधिकारी से छेड़छाड़ के आरोप, एसडीएम को हटाया

देवास/खातेगांव । जिले की खातेगांव तहसील में पदस्थ महिला फूड इंस्पेक्टर ने गुरुवार शाम प्रेस वार्ता में एसडीएम संतोष तिवारी पर छेड़छाड़ के आरोप लगाए। उन्होंने कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला से भी इसकी शिकायत की, जिस पर उन्होंने एसडीएम का तबादला कलेक्टर आफिस में बतौर डिप्टी कलेक्टर कर दिया है। उनके स्थान पर डिप्टी कलेक्टर त्रिलोचन गौड़ को खातेगांव एसडीएम बनाया है। पुलिस तक अभी मामला नहीं पहुंचा है।

फूड इंस्पेक्टर ने पत्रकारों को बताया वे नवंबर 2020 से खातेगांव में कार्यरत हैं। एसडीएम तिवारी उन्हें फोन और वाट्सएप संदेश कर छेड़छाड़ करते रहे हैं। पांच दिन से कुछ ज्यादा ही परेशान किया जा रहा था। काम ज्यादा होने से रविवार को स्टाफ के साथ आफिस में थी, तब एसडीएम तिवारी भी वहां आए और मुझे केबिन में बुलाकर छेड़छाड़ की। सोमवार को भी उन्होंने फोन कर मेरे रूम पर आने की बात कही। मैं डर गई थी। मैंने सारी बात पति को बताई। उसके बाद हम दोनों कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला के पास गए। उन्हें सारी काल रिकार्डिंग एवं मैसेज भी दिखाए।

गलत आरोप

एसडीएम तिवारी का कहना है फूड इंस्पेक्टर द्वारा लगाए आरोप बेबुनियाद हैं। मैं पौने दो साल से खातेगांव में पदस्थ हूं। मेरा स्वभाव ऐसा होता तो अभी तक कितनी ही महिलाएं मुझ पर आरोप लगा चुकी होती। अगर कोई कर्मचारी ठीक से काम नहीं करेगा तो डांट-फटकार तो करनी पड़ेगी। बस, इसी कारण से मुझ पर गलत आरोप लगाए जा रहे हैं।