ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

विधानसभा चुनाव:- मतदाता मौन, प्रशासन मतगणना को लेकर मुस्तैद, प्रत्याशियों की धड़कनें तेज

भाटापारा विधानसभा चुनाव

नए चुनावी समीकरणों के कारण गांव शहर के परिणामो में परिवर्तन होने की संभावना

भाटापारा जरा हटके। भाटापारा विधानसभा का चुनाव संपन्न हुए दो हफ़्ते से अधिक समय बीत जाने के बाद भी आम मतदाता कुछ भी बोलने से बचते दिख रहा है, जबकि कांग्रेस भाजपा के नेता कार्यकर्ता अपनी अपनी जीत का दावा करते दिख रहे हैं। भाजपा की बात करें तो बड़े नेता 10 से 15 हजार की जीत का दावा कर रहे हैं, वहीं उनके कार्यकर्ता 3 से से 5 हज़ार से ऊपर नहीं बढ़ पा रहे हैं। कांग्रेस नेता भी जहां 15 से 20 हज़ार की बढ़त की बात कर रहे हैं ,तो कार्यकर्ता 2 से 4 हज़ार पर ही अटके दिख रहे हैं, जिससे स्पष्ट होता है कि मुकाबला बड़े कांटे का है।

पिछले चुनाव की तुलना में इस बार का चुनाव काफी अलग देखा गया इसलिए गांव शहर के परिणाम में भी उलट फेर की संभावना जताई जा रही है। कांग्रेस की ओर से भूपेश बघेल का चेहरा और कर्ज माफी की चर्चा रही तो भाजपा से शिव रतन शर्मा के द्वारा कराए गए विकास कार्य चुनाव के अहम मुद्दे रहे। शहर के मतदाताओं में चुनाव को लेकर उत्साह की कमी दिखी, लोगों का बाहर चले जाना,घर पर आराम करना,भाजपा की दृष्टि से बेहतर नहीं रहा,वही इस बार शहर से कांग्रेस प्रत्याशी के होने के कारण भाजपा की लीड कम होने की संभावना जताई जा रही है, शहर से लगे बड़े गांव भी कांटे की टक्कर वाली स्थिति में दिख रहे है, सिमगा शहर भाजपा की दृष्टिकौन से अच्छे होने की संभावना जताई जा रही है, पिछले चुनाव की अपेक्षा कांग्रेस भाटापारा शहर में कुछ वार्डों में बेहतर प्रदर्शन कर सकती है, वहीं शहर से जुड़े बड़े गांव भी ठीक रहने की संभावना है, दूर दराज के गांव में अगर भूपेश की योजना नहीं चली तो भाजपा प्रत्याशी की सक्रियता का उन्हें लाभ मिल सकता है, जहाँ कम समय में टिकट मिलने के कारण कांग्रेस प्रत्याशी पहुंचने में असफल रहे।