ब्रेकिंग
सतगुरू कबीर संत समागम समारोह दामाखेड़ा पहुंच कर विधायक इन्द्र साव ने लिया आशीर्वाद विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद

सिलगेर में नहीं हो सकी महारैली, कलेक्टर ने नहीं दी इजाजत

बीजापुर। सुकमा जिले के सिलगेर में फोर्स के कैंप के विरोध में मंगलवार को प्रस्तावित महारैली आयोजित नहीं हो पाई। कलेक्टर, एसडीएम, तहसीलदार, एसपी समेत सभी वरिष्ठ अधिकारी सिलगेर के निकटवर्ती कैंप में तैनात रहे, लेकिन रैली नहीं निकली। मौके पर कोविड जांच दल भी मौजूद था, हालांकि जांच कराने कोई ग्रामीण नहीं आया।

बाद में बीजापुर जिला मुख्यालय में कलेक्टर रितेश अग्रवाल व एसपी कमलोचन कश्यप ने सर्व आदिवासी समाज के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। बैठक में यह मुद्दा उठा कि वर्तमान में बीजापुर जिला व खासकर उसूर ब्लाक प्रदेश का सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित इलाका है। ऐसे में यहां भीड़ जुटाना कितना उचित होगा।

कलेक्टर ने आश्वस्त किया कि समाज के प्रतिनिधियों की मांग शासन को भेज देंगे। इसके बाद बैठक समाप्त हो गई। सूत्र बता रहे हैं कि बुधवार को सिलगेर में आदिवासी एक सांकेतिक रैली करेंगे, जिसमें ज्यादा भीड़ नहीं एकत्र की जाएगी। यह भी खबर मिल रही है कि रैली के बाद ज्ञापन सौंपकर सिलगेर आंदोलन को समाप्त करने की घोषणा की जा सकती है।