ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

बारामूला नूरबाग भीषण अग्निकांड में एक दर्जन के करीब मकान जलकर राख, 6 घायल

श्रीनगर। बारामूला के नूरबाग इलाके में वीरवार की रात को हुए एक भीषण अग्निकांड में लगभग एक दर्जन मकान जलकर राख हो गए। अलबत्ता, इसमें किसी प्रकार का जानी नुकसान तो नहीं हुआ है। परंतु छह लोग इस हादसे में घायल हुए हैं।

यहां मिली जानकारी के अनुसार, रात दस बजे के करीब शेख मोहल्ला, नूरबाग में अचानक एक मकान में रसोई गैस के सिलंंडर के फटने की आवाज आई। उसके साथ ही वहां आग लग गई। घर में मौजूद लोग उसी समय अपनी जान बचाने के लिए बाहर की तरफ दौडे़। उन्हाेंने मदद के लिए शोर मचाते हुए आग पर काबू पाने का प्रयास किया।

इस बीच, आग की लपटाें ने साथ सटे मकानों काे भी अपनी चपेट में ले लिया। पुलिस और सेना भी अपने साजो सामान के साथ आग पर काबू पाने के लए मौके पर पहुंच गई। दमकल कर्मी भी सूचना मिलते ही पहुंच गए। आग पर काबू पाने के लिए सेना के जवानों ने कार्रवाई शुरू कर दी। आग को फैलने के साथ लोगों को बचाने के लिए जवानों ने बचाव कार्य जारी रखा। सेना के अनुसार इस भीषण अग्निकांड में छह लोग जख्मी हुए हैं जबकि 170 से 200 लोगों को आर्थिक नुकसान पहुंचा है। देर रात गए किसी तरह आग पर काबू पाया जा सका, लेकिन तब तक एक दर्जन मकान तबाह हो चुके थे।

संबधित अधिकारियों ने बताया कि शुरुआती जांच के मुताबिक एक मकान में रसाेई गैस के सिलंडर में धमाका होने के बाद ही आग लगी है। फिलहाल, जांच हो रही हे और जांच पूरी होने के बाद ही आग के सही कारणों का पता चलेगा। उन्होंने बताया कि आग में तबाह हुए मकान बिल्कुल एक दूसरे के साथ सटे हुए थे। इनमें से लकड़ी का बहुत ज्यादा इस्तेमाल हुआ था, इसलिए आग तेजी से फैली।