ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

एकल पीठ में आज होगी जमानत याचिका पर सुनवाई

इंदौर। हनी ट्रैप मामले के चार आरोपितों ने मप्र हाई कोर्ट की इंदौर खंडपीठ में जमानत याचिका प्रस्तुत की है। गुरुवार को एकल पीठ में इन पर सुनवाई होना है। चारों आरोपित लंबे समय से जेल में बंद हैं। वे इसके पहले भी जमानत के लिए याचिकाएं प्रस्तुत कर चुके हैं, लेकिन राहत नहीं मिली।

गौरतलब है कि सितंबर 2019 में इंदौर नगर निगम के तत्कालीन सिटी इंजीनियर हरभजनसिंह ने पलासिया पुलिस थाने पर शिकायत की थी कि कुछ महिलाएं उन्हें अश्लील वीडियो के नाम पर ब्लेकमेल कर रही हैं। ये महिलाएं वीडिया सार्वजनिक नहीं करने के नाम पर तीन करोड़ रुपये की मांग कर रही हैं। पुलिस ने शिकायत दर्ज कर सिंह को ब्लैकमेल कर रही महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया। जांच के दौरान कुछ और भी आरोपितों के नाम सामने आए। ये सभी आरोपित तब से ही जेल में हैं। आरोपितों श्वेता, अभिषेक, मोनिका और श्वेता विजय ने हाई कोर्ट में जमानत याचिकाएं प्रस्तुत की हैं। आरोपितों का कहना है कि वे लंबे समय से जेल में हैं। प्रकरण की सुनवाई पूरी होने में लंबा समय लगने की आशंका है। मामले में जांच पूरी हो चुकी है। चालान भी प्रस्तुत हो चुका है। ऐसे में उन्हें जमानत पर रिहा किया जाए। आरोपितों की याचिकाओं पर गुरुवार को सुनवाई होना है।

जांच के लिए दस्तावेज हैदराबाद भेजे थे

हनी ट्रैप मामले में एक जनहित याचिका भी हाई कोर्ट में दायर हुई थी। कोर्ट के आदेश के बाद मामले से जुड़े इलेक्ट्रानिक सबूत यानी सीडी और पैन ड्राइव इत्यादि को जांच के लिए हैदराबाद स्थित फॉरेंसिक लैब भेजा गया था। वहां से जांच रिपोर्ट कोर्ट में प्रस्तुत भी हो चुकी है। हालांकि लाकडाउन के चलते जिला कोर्ट में मामले की सुनवाई लंबे समय से टल रही है।