ब्रेकिंग
आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी ट्रक चोरी करने वाले 06 आरोपियो को किया गया गिरफ्तार, मंडी के पास लिंक रोड के किनारे खड़ी ट्रक को किया था चोरी, उड़ीसा से हुई बरामद रायपुर में शिवमहापुराण कथा:पंडित प्रदीप मिश्रा का प्रवचन सुनने लाखों लोग पहुंचे , अनुमान से अधिक लोगों के पहुंचने के कारण पंडित जी को कहना पड़ा घर में...

सिविल जज परीक्षा को चुनौती, 50 याचिकाओं पर फैसला सुरक्षित

बिलासपुर।  सिविल जज प्रारंभिक परीक्षा को लेकर दायर सभी याचिकाओं पर बहस पूरी हो गई है। सभी पक्षों की सुनवाई के बाद हाई कोर्ट ने अपना निर्णय आदेश के लिए सुरक्षित रख लिया है।

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयो ने 2020 की सिविल जज भर्ती परीक्षा आयोजित की थी। इसके बाद आयोग ने माडल आंसर जारी किया। प्रश्नपत्र में सवाल क्रमांक 12 व 99 को यह कहकर विलोपित कर दिया कि यह दोनों प्रश्न गलत हंै। आयोग के इस निर्णय से कई अभ्यर्थियों के अंक प्रभावित हुए।

इसी तरह परीक्षा में शामिल एक अभ्यर्थी छबिलाल साहू ने इसका विरोध करते हुए अधिवक्ता सौरभ साहू के माध्यम से हाई कोर्ट में याचिका दायर कर दी। इसमें कहा गया कि बाद में प्रश्नों को विलोपित करने से जिन अभ्यर्थियों ने इसे हल किया है उनके प्राप्तांकों में फर्क पड़ा है। इसके चलते उनके मुख्य परीक्षा में शामिल होने की संभावना भी खत्म हो गई है। प्रकरण की सुनवाई जस्टिस पी सैम कोशी की सिंगल बेंच में चल रही थी।

इस दौरान आयोग ने बताया कि याचिका दायर होने से पहले ही इसके लिए एक्सपर्ट कमेटी को जवाबदारी दी गई है। एक्सपर्ट कमेटी की रिपोर्ट के बाद ही दोनों सवाल विलोपित किए गए हैं। इस बीच अधिवक्ता किशोर भादुड़ी, रोहित शर्मा सहित अन्य वकीलों के माध्यम से नियुक्ति को लेकर अलग-अलग करीब 50 याचिकाएं दायर की गई। इन सभी प्रकरणों की एक साथ सुनवाई चल रही थी

सुनवाई के दौरान जस्टिस कोशी ने आयोग को एक्सपर्ट कमेटी की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए थे। पिछले लंबे समय से याचिकाकर्ताओं के अधिवक्ताओं द्वारा अलग-अलग बहस की जा रही थी। लगातार हुई बहस के बाद बुधवार को सुनवाई पूरी हुई। सभी पक्षों को सुनने के बाद हाई कोर्ट ने इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया है।