ब्रेकिंग
सतगुरू कबीर संत समागम समारोह दामाखेड़ा पहुंच कर विधायक इन्द्र साव ने लिया आशीर्वाद विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद

तेजस्‍वी यादव पर भाजपा का हमला, गिनाए यादव नेताओं के नाम; दावा- इन्‍हें लालू परिवार ने लगाया ठिकाने

पटना।  बिहार की सरकार में भाजपा (Bihar BJP) कोटे के मंत्री राम सूरत राय (Bihar Minister Ram Surat Rai) पर राजद (RJD) नेता और बिहार के पूर्व उप मुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव (Ex Deputy Chief Minister Tejaswi Yadav) के हमलों का जवाब देने के लिए मंत्री की पार्टी भी अब हमलावर हो गई है। भाजपा ने तेजस्‍वी और लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के पूरे परिवार पर यादव जाति का विरोधी होने का आरोप लगाया है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा है कि राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय पर नेता विपक्ष तेजस्वी यादव अनर्गल लांछन लगा रहे हैं। तेजस्वी को रामसूरत राय के यादव होने से दिक्कत है, इसलिए वे उनका चरित्रहनन करना चाहते हैं।

लालू परिवार नहीं चाहता, कोई दूसरा यादव नेता बने

निखिल ने कहा कि लालू प्रसाद के परिवार के लोग यादवों को बंधुआ मजदूर बनाकर इस समाज की राजनीतिक ठेकेदारी करना चाहते हैं। लालू परिवार कभी नहीं चाहता है कि कोई भी दूसरा यादव नेता नेतृत्व के स्तर पर स्थापित हो और मंत्री, मुख्यमंत्री या केंद्रीय मंत्री बने। दुर्भाग्यपूर्ण है कि यादवों के नाम पर राजनीति करने वाले राजद नेता ने दूसरे दल के यादव नेताओं के चरित्रहनन की सुपारी ले ली है। तेजस्वी यादव को राम सूरत राय पर बयान देने से पहले लालू प्रसाद से पूछ लेना चाहिए कि अर्जुन राय कौन थे जिनके बेटे राम सूरत राय है जिनका परिवार सात पुश्तों से बेदाग है।

गिनाए कई नाम, कहा- इन नेताओं को लालू परिवार ने खत्‍म किया

बकौल निखिल आनंद, लालू परिवार ने अनूप लाल यादव, विनायक प्रसाद यादव, गजेंद्र प्रसाद हिमांशु, देवेंद्र यादव सहित अनगिनत यादव नेताओं को जीते जी खत्म किया है। राम लखन सिंह यादव, बुद्धदेव सिंह, दरोगा प्रसाद राय, बीपी मंडल जैसे लोकप्रिय यादव नेताओं के परिवार की उपेक्षा और बेइज्जती  करने में लालू ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ा। अब तेजस्वी उसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए चंद्र‍िका राय, नित्यानंद राय और रामसूरत राय ही नहीं उनके परिवार को गाहे-बगाहे निशाना बना रहे हैं।