Jain
ब्रेकिंग
रमा देवी बंशीलाल गुर्जर और नम्रता प्रितेश चावला के नाम पर चल रहा मंथन महिलाओं की उंगलियां होती है ऐसी, स्वभाव से होती हैं गंभीर और बड़ी खर्चीली इन चीजों से किडनी हो सकती है खराब दिल्ली से किया था नाबालिग को अगवा, CCTV फुटेज से आरोपियों की हुई थी पहचान गृह विभाग में अटकी फ़ाइल, क्या रिटायर्ड होने के बाद होगा प्रमोशन एशिया कप के लिए टीम का ऐलान आज वास्तु की ये छोटी गलतियां कर सकती हैं आपका बड़ा नुकसान, खो सकते हैं आप अपना कीमती दोस्त आय से अधिक संपत्ति मामले में शिबू सोरेन को लोकपाल का नोटिस बाइक से कोरबा लौटने के दौरान हादसा, दूसरे जवान की हालत गंभीर; पुलिस लाइन में पदस्थ थे दोनों | road accident in chhattisharh; bike rider chhattisgarh p... खरीदें Redmi का शानदार 5G स्मार्टफोन

वेतन विसंगति को लेकर रायपुर में शिक्षकों का हल्ला बोल

रायपुर। छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के बैनर तले शुक्रवार को राजधानी रायपुर में बड़ी संख्या में शिक्षक एकजुट होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। रायपुर में बूढ़ा तालाब में एकजुट होकर फेडरेशन के पदाधिकारी वेतन विसंगति दूर कराने की मांग लेकर मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने के लिए जुटे रहे। इसमें रायपुर बूढा तालाब परिसर में धरना-प्रदर्शन कर सीएम हाउस घेरने पर चर्चा की। प्रदर्शन के दौरान मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा।

शिक्षकों का कहना है कि उनकी मांगे सरकार पूरी नहीं कर रही है। यदि मांगों को पूरा नहीं किया गया, तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। प्रदर्शन में शामिल होने जिले के सभी ब्लॉक के सहायक शिक्षको सहमति दी है। शिक्षक साथी अपने साधन बस, ट्रेन, कार व दोपहिया वाहनों से राजधानी रायपुर पहुंचे।

फेडरेशन के पदाधिकारियों ने कहा है कि यह लड़ाई प्रदेश के सभी एक लाख नौ हजार सहायक शिक्षकों की है, फेडरेशन ने मुख्यमंत्री निवास का घेराव और धरना-प्रदर्शन साहसिक एवं ऐतिहासिक निर्णय है। जब तक हम अपनी मांगों के लिए संघर्ष नहीं करेंगे। तब तक हमारी वेतन विसंगति दूर नहीं हो सकती है। हमें हर माह 10 से 15 हजार रुपये का आर्थिक नुकसान हो रहा है।

इसके अलावा न हमें क्रमोन्नाति मिल रही है और न ही पदोन्नाति मिल रही है। वेतन विसंगति दूर कराने की लड़ाई में सभी सहायक शिक्षक साथ दें, यह संघर्ष सहायक शिक्षकों के लिए ऐतिहासिक होगा। गौरतलब है कि इसके पहले भी सहायक शिक्षक फेडरेशन ने कई बार वेतन विसंगति की माग को लेकर राजधानी में प्रदर्शन किया है।