ब्रेकिंग
सतगुरू कबीर संत समागम समारोह दामाखेड़ा पहुंच कर विधायक इन्द्र साव ने लिया आशीर्वाद विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद

छत्तीसगढ़ में यूनिसेफ स्टाफ ने लगवाया COVID का टीका

रायपुर। छत्तीसगढ़ में यूनिसेफ के कर्मचारियों ने चीफ ऑफ ऑफिस जॉब जकरिया के नेतृत्व में आज यहां रायपुर मेडिकल कॉलेज में COVID19 टीकाकरण करवाया। लोगों से कोविड टीकाकरण लेने की अपील करते हुए, जकरिया ने कहा कि कोविड टीकाकरण से न सिर्फ लोगों, परिवारों और समुदायों की इस बीमारी से सुरक्षा होगी, बल्कि इसके संचरण की श्रृंखला को तोड़ कर इसके प्रसार को भी रोका जा सकेगा। वयस्कों द्वारा टीकाकरण लिए जाने से बच्चों को भी लाभ होगा, क्योंकि COVID अप्रत्यक्ष रूप से उनके स्वास्थ्य, पोषण, शिक्षा और सुरक्षा को भी प्रभावित करता है।

वैश्विक प्रमाणों से पता चलता है कि COVID के सामाजिक-आर्थिक प्रभाव से बाल मृत्यु, कुपोषण, स्कूल छोड़ने, बाल विवाह, बाल श्रम, बाल तस्करी और बच्चों के खिलाफ हिंसा की दर में वृद्धि होगी। इस भयावह स्थिति को COVID टीकाकरण से रोका जाना चाहिए। जकरिया ने कहा कि COVID टीकाकरण अभियान के अंतर्गत कमजोर, दूरदराज और आदिवासी परिवारों के लोगों पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए।

छत्तीसगढ़ में COVID टीकाकरण के लिए 35 लाख लोग पात्र हैं

ऐसा अनुमान है कि छत्तीसगढ़ में 35 लाख लोग इस चरण में COVID टीकाकरण लेने के लिया पात्र हैं। इसमें पांच लाख स्वास्थ्य और सीमावर्ती कार्यकर्ता और 30 लाख 60 साल से ऊपर के लोग और मधुमेह और रक्तचाप (उच्च रक्तचाप) जैसी बीमारियों से पीड़ित 45-59 वर्ष के लोग शामिल हैं।

राज्य टीकाकरणअधिकारी डॉ. अमर सिंह ठाकुर ने कहा कि COVID टीकाकरण पाने के इच्छुक व्यक्ति आधार नंबर, नाम और उम्र की जानकारी देकर CoWin ऐप या CoWin पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते हैं। जिनके पास इंटरनेट की व्यवस्था नहीं है, वे टीकाकरण केंद्रों पर पंजीकरण कर सकते हैं। छत्तीसगढ़ में 900 टीकाकरण केंद्र हैं, जहां प्रतिदिन टीकाकरण किए जा रहे है।

इसमें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, जिला अस्पताल और निजी अस्पताल शामिल हैं। पंजीकरण के लिए आधार कार्ड या पहचान के अन्य प्रमाण को टीकाकरण स्थल पर प्रस्तुत किया जाना आवश्यक है। 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को किसी पंजीकृत चिकित्सक द्वारा जारी प्रमाण पात्र लेकर आना होगा। वैक्सीन लोगों को बीमारी और मृत्यु से बचाने का सबसे सरल और सस्ता तरीका है। COVID वैक्सीन सरकारी सुविधाओं में निश्शुल्क प्रदान किया जा रहा है। यह एक साधारण इंजेक्शन हैं जिसे दो बार लिया जाना है।

यूनिसेफ छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ. श्रीधर रियावंकी ने कहा कि दूसरी खुराक 28 दिन बाद दी जाती है। वैक्सीन सुरक्षित हैं और किसी भी वैक्सीन के बाद हल्के बुखार, कमजोरी और दर्द जैसे साइड इफेक्ट आम हैं। जब तक टीकाकरण अभियान पूरा न हो जाए COVID उचित व्यवहार जारी रखना महत्वपूर्ण है। इस अवसर पर डॉ. श्रीधर ने भी टीकाकरण करवाया

यूनिसेफ द्वारा 200 करोड़ COVID वैक्सीन की खुराक प्रदान की जाएगी

राज्य में अब तक की सबसे बड़ी वैक्सीन ड्राइव में यूनिसेफ द्वारा राज्य सरकार को मीडिया एंगेजमेंट, सोशल मोबिलाइजेशन, कम्युनिकेशन मटीरियल के विकास और कोल्ड चेन मैनेजमेंट के कार्य में समर्थन कर रहा है। विश्व स्तर पर, WHO, Gavi, CEPI, PAHO, विश्व बैंक, बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन और अन्य भागीदारों के साथ मिलकर, ग्लोबल COVAX सुविधा की ओर से यूनिसेफ विश्व की सबसे बड़ा वैक्सीन खरीद और आपूर्ति संचालन का नेतृत्व कर रहा है।

COVAX सुविधा सभी देशों में उपलब्ध है, और यह सुनिश्चित करने के लिए कि भविष्य में कोई भी देश COVID-19 वैक्सीन से न रहे, यूनिसेफ अपने वैश्विक सहयोगियों के साथ इस वर्ष के अंत तक 190 देशों में वैक्सीन की 200 करोड़ खुराक और 100 करोड़ सीरिंज की डिलीवरी सुनिश्चित करेगा।

यूनिसेफ दुनिया में सबसे बड़े एकल वैक्सीन खरीदार के रूप में अपने अनुभव का लाभ उठा रहा है और COVID-19 वैक्सीन की खुराक के साथ-साथ माल, रसद और भंडारण की खरीद पर निर्माताओं और भागीदारों के साथ काम कर रहा है। वैक्सीन पर विश्वास बढ़ाने और दुनिया भर में गलत सूचनाओं को ट्रैक करने और उन्हें संबोधित करने के प्रयासों में यूनिसेफ भी अग्रणी भूमिका निभा रहा है।