ब्रेकिंग
उदयपुर हत्याकांड के विरोध में बंद रहा बाजार, चप्पे-चप्पे पर तैनात रहे जवान यूपीएसएसएससी पीईटी नोटिफिकेशन जारी काशी विश्वनाथ धाम में अब बज सकेगी शहनाई, होंगी शादियां प्रदेश में मंत्री से लेकर संतरी तक भ्रष्टाचार में संलिप्त, भ्रष्टाचारियों की गिरफ्तारी के मुद्दे पर आप लड़ेगी निगम चुनाव अज्ञात युवकों ने कॉलेज कैंटीन में बैठे 3 छात्रों पर किया तेजधार हथियार से हमला; 1 की हालत गंभीर सिवनी कोर्ट परिसर में न्यायाधीशों समेत 27 ने किया रक्तदान, वितरित किए प्रमाण पत्र पड़ोस में रहने आयी छात्रा से जान पहचान बना डिजिटल रेप करने वाले आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार लोगों ने की आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग, टायर जलाकर की नारेबाजी 12 जुलाई को देवघर जाएंगे पीएम मोदी रिलायंस जिओ डीटीएच प्लान्स ऑफर और आवेदन की जानकारी | Reliance Jio DTH Setup Box Plan Offer Online Booking Information in hindi

बिहार के सुपौल में बड़ी वारदात : एक साथ फंदे से झूलते मिले परिवार के पांच सदस्‍य, दुर्गंध से खुला राज

पटना/ भागलपुर/ सुपौल:  बिहार के सुपौल (Supaul) जिले से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। सुपौल जिले के राघोपुर थाना क्षेत्र (Raghopur Police Station) के गद्दी गांव (Gaddi Village) के वार्ड चार में एक घर के अंदर से एक ही परिवार के पांच सदस्‍यों के शव मिले हैं। सभी शव घर के अंदर एक ही कमरे में फंदे से लटके मिले हैं। इनमें पति-पत्‍नी, दो बेटियां और एक बेटा शामिल है। यह घर पिछले कुछ दिनों से बंद था और घर के सदस्‍य किसी को बाहर नहीं दिखे थे। आसपास के लोगों को काफी तेज दुर्गंध महसूस होने पर अनहोनी की आशंका से इस घर की पड़ताल की गई तो पूरा मामला सामने आया।

घटना की सूचना मिलते ही खुद पहुंचे एसपी

इस खौफनाक वारदात की सूचना मिलते ही आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई। स्‍थानीय ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची राघोपुर थाने की पुलिस भी घर के अंदर का नजारा देखकर हैरान रह गई। थाने के स्‍तर से इस बड़ी वारदात की सूचना तुरंत वरीय अधिकारियों को दी गई। सूचन मिलते ही एसपी मनोज कुमार खुद ही घटनास्‍थल पर पहुंच गए

फोरेंसिक टीम के आने का हो रहा इंतजार

वारदात की जांच के लिए पुलिस फोरेंसिक टीम के आने का इंतजार कर रही है। पुलिस हर पहलू से मामले की जांच कर रही है। हालांकि प्रथम दृष्‍टया मामला सामूहिक आत्‍महत्‍या का माना जा रहा है। गांव वाले भी ऐसा ही अंदेशा जाहिर कर रहे हैं।

गांव वालों से अधिक संपर्क नहीं रखता था परिवार

यह परिवार गांव वालों से अधिक संपर्क नहीं रखता था। गांव वालों का यह भी कहना है कि परिवार का कोई भी सदस्‍य पिछले कुछ दिनों से मुहल्‍ले में दिखा नहीं था। इससे अंदेशा जताया जा रहा है कि कम से कम दो-तीन दिन पहले ही सभी सदस्‍यों की मौत हो गई होगी। परिवार पर कर्ज और गरीबी की बात भी चर्चा में है।