ब्रेकिंग
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने जेपी हॉस्पिटल में स्वास्थ्य मेले की व्यवस्थाओं का जायजा लिया एकदंत संकष्टी चतुर्थी कल अप्रैल के जीएसटी कर भुगतान की तारीख बढ़ी वैश्विक स्तर पर अकेले वायु प्रदूषण से 66.7 लाख लोगों की मौत ऑनलाइन गेमिंग, कैसिनो पर 28 फीसदी जीएसटी लगाने की तैयारी, ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स ने दी प्रस्ताव को मंजूरी एक दिन की बढ़त के बाद फिसला बाजार, सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान में क्लोज, पॉवर ग्रिड सबसे ज्यादा लुढ़का पीएम आवास योजना को लेकर सरकार ने किया बड़ा ऐलान! सभी पर पड़ेगा असर कश्मीर घाटी में अभी और होगी बारिश, जम्मू में चल सकती है लू, अलर्ट जारी सुप्रीम कोर्ट ने एजी पेरारिवलन को रिहा किया फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया में आवेदन की प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जा सकती है

Bengal Chunav 2021: तृृृृृृृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व BJP नेता यशवंत सिन्हा

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की सूची पर मंथन के लिए शनिवार को भारतीय जनता पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की मीटिंग हो रही है। पश्चिम बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘चुनाव के शुरुआती चरणों के लिए हमने उम्मीदवारों का चयन कर लिया। हम तीसरे चरण के लिए उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा करेंगे। लोग ममता बनर्जी के ‘विसर्जन’ के लिए तैयार हैं।’  बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के पहले दो चरणों के लिए 59 उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी की थी। अब शेष सीटों पर नामों के घोषणा किए जाने की उम्मीद है। इन राज्यों में मतदान 27 मार्च को शुरू होगा और 29 अप्रैल को समाप्त होगा। इसके नतीजे 2 मई को आएंगे।

जानें आज क्या है राज्य में चुनावी हलचल-

-पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा (Former BJP leader Yashwant Sinha) TMC भवन पहुंचे। आज वे तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए।

– नंदीग्राम में ममता बनर्जी को लगी चोट पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘राज्य में लोग बहुत सारे तरीके अपनाते हैं। ममता बनर्जी की पार्टी टूट रही है, अब उनके पास स्टार प्रचारक भी नहीं हैं। वो घबराई हुई हैं, नए-नए तरीके ढूंढ कर लोगों की सहानुभूति पैदा करने की कोशिश कर रही हैं।’

इससे पहले यहां होने वाले प्रथम चरण के चुनाव में 30 निर्वाचन क्षेत्रों के लिए दाखिल नामांकन पत्रों की जांच की गई। जांच के बाद भाजपा, तृणमूल कांग्रेस, टीएसी और कांग्रेस के प्रत्याशियों का पर्चा खारिज कर दिया गया। अधिकारियों के अनुसार, कुल 222 उम्मीदवारों ने 27 मार्च को होने वाले पहले चरण के मतदान के लिए अपना नामांकन दाखिल किया जिसमें से 16 के नामांकन पत्र अवैध पाए गए।