ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

गर्भवती महिलाओं के लिए कितनी सुरक्षित है कोरोना की वैक्सीन, रिसर्च में किया गया बड़ा दावा

नई दिल्ली। गर्भवती महिलाओं के लिए भी कोरोना रोधी वैक्सीन सुरक्षित हो सकती है। एक अध्ययन में पाया गया है कि वैक्सीन से गर्भ में पल रहे बच्चे के नाल को नुकसान नहीं पहुंचता है। मंगलवार को अब्स्टेट्रिक्स एंड गाइनकोलॉजी नामक पत्रिका में प्रकाशित अपने तरह के इस पहले अध्ययन से इसको और बल मिला है कि गर्भावस्था के दौरान कोरोना रोधी वैक्सीन लगवाना सुरक्षित है।

अमेरिका की नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी के फिनबर्ग स्कूल ऑफ मेडिसिन में असिस्टेंट प्रोफेसर जेफरी गोल्डस्टीन ने कहा, ‘नाल हवाई जहाज के ब्लैक बॉक्स की तरह होता है। गर्भावस्था के दौरान अगर कुछ ग़़डब़़डी होती है तो आमतौर पर नाल में बदलाव देखने को मिलता है जिससे हम ग़़डब़़डी का पता लगा सकते हैं।’ उन्होंने कहा कि हम कह सकते हैं कि कोरोना वैक्सीन नाल को नुकसान नहीं पहुंचाती है। शोधकर्ताओं ने माना कि वैक्सीन को लेकर खासकर गर्भवती महिलाओं में हिचक है।

नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर और अध्ययन रिपोर्ट की सह लेखक एमिली मिलर ने कहा, ‘हमारी टीम को उम्मीद है कि ये आंकड़े, जो अभी प्रारंभिक हैं, गर्भावस्था के दौरान वैक्सीन लेने से जुड़ी चिंताएं कम कर सकते हैं।’ अमेरिका के शिकागो शहर के एक अस्पताल में बच्चों को जन्म देने वाली टीका लगवाने वाली 84 गर्भवती और बिना टीका लगाए 116 गर्भवती महिलाओं पर यह अध्ययन किया गया। इनमें से ज्यादातर महिलाओं ने गर्भावस्था के दौरान फाइजर या मॉडर्ना की वैक्सीन लगवाई थीं।

अगर आप इंतज़ार करने का फैसला लेती हैं तो ध्यान रखें

याद रखें, अगर आप वैक्सीन नहीं लगवाती हैं, जो एक व्यक्तिगत फैसला है, तो आपके संक्रमित होने का जोखिम बड़ा होता है। अगर आप गर्भवती हैं, तो ये जोखिम और बढ़ जाता है। अब तक हुए शोध में से कुछ का मानना है कि गर्भवती महिला वायरल को अपने नवजात बच्चे को भी दे सकती है, वहीं कुछ शोध ने इस बात को ग़लत बताया है।  ऐसे में इसको लेकर और शोध किए जा रहे हैं। आने वाले वक्त में इसको लेकर तस्वीर और साफ होगी।