ब्रेकिंग
सतगुरू कबीर संत समागम समारोह दामाखेड़ा पहुंच कर विधायक इन्द्र साव ने लिया आशीर्वाद विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद

WhatsApp ने बदला अपना स्टैंड, कहा – ऐप के फीचर्स और फंक्शन में नहीं होगी कटौती

नई दिल्ली। इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp की तरफ से जनवरी में नई प्राइवेसी पॉलिसी को पेश किया गया था। हालांकि नई प्राइवेसी पॉलिसी के बाद से WhatsApp पर भारी दबाव है। ऐसे में WhatsApp के स्टैंड में लगातार बदलाव देखा गया है। इससे पहले 15 मई तक प्राइवेसी पॉलिसी को ना स्वीकारने पर WhatsApp की तरफ से अकाउंट बंद करने का ऐलान किया गया था।

दबाव के बाद बदला WhatsApp का स्टैंड 

हालांकि सरकारी दबाव के बाद whatsapp ने अपने रूख में बदलाव करते हुए कहा कि शर्त ना मानने वाले किसी भी यूजर्स के WhatsApp अकाउंट को बंद नहीं किया जाएगा। हालांकि WhatsApp के कुछ फंक्शन को बंद करने की बात उठी। हालांकि अब WhatsApp की तरफ से साफ किया गया है कि WhatsApp की प्राइवेसी पॉलिसी को ना स्वीकारने वाले किसी भी यूजर्स के WhatsApp अकाउंट को बंद नहीं किया जाएगा। साथ ही किसी भी यूजर्स के फंक्शन को सीमित नहीं किया जाएगा। कंपनी ने कहा कि 15 मई की डेडलाइन के बाद भी सभी यूजर्स के एकाउंट पहले की तरह जारी रहेंगे। साथ ही सारे फीचर्स भी उपलब्ध रहेंगे।

मुश्किल हालात का दिया हवाला

Live Mint की रिपोर्ट के मुताबिक WhatsApp की ओर से कहा गया है कि कोविड-19 के इस मुश्किल हालात में WhatsApp दोस्तों और परिवार के साथ जुडने का एक बड़ा माध्यम है। ऐसे में कंपनी WhatsApp के किसी भी फीचर्स में कोई कटौती नहीं करेगी। चाहे यूजर्स ने WhatsApp पॉलिसी को स्वीकार किया हो या नहीं। कंपनी की मानें, तो ज्यादातर WhatsApp यूजर्स ने नई पॉलिसी को मंजूरी दे दी है। हालांकि जिन यूजर्स ने पॉलिसी एक्सेप्ट नहीं की है, उन्हें नोटिफिकेशन भेजा जाता रहेगा। कंपनी के मुताबिक नई प्राइवेसी पॉलिसी से किसी भी यूजर्स की प्राइवेसी को खतरा नहीं होगा। WhatsApp की तरफ से ऐसा बयान देने को मजबूर होना पड़ा, क्योंकि ऐसी खबरें थी कि WhatsApp पॉलिसी को मंजूरी ना देने पर कंपनी फीचर्स में कटौती कर देगी।