ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

हर्षवर्धन बोले- अपनी जरूरतों के बावजूद भारत ने 123 देशों को की दवाओं की आपूर्ति

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने गुरुवार को कहा कि कोरोना महामारी के दौरान अपनी जरूरतों के बावजूद भारत ने 123 साझीदार देशों को दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित की। वह ‘नाम’ (गुटनिरपेक्ष आंदोलन) देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ एक आनलाइन चर्चा के दौरान बोल रहे थे।

बैठक में विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टेड्रोस अधनोम घेब्रेयेसस भी मौजूद थे। हर्षवर्धन ने दोहराया कि भारत हमेशा सभी के स्वास्थ्य के लिए प्रयासरत रहेगा। उन्होंने कहा, ‘अपनी जरूरतों के बावजूद कोरोना महामारी के दौरान हमने नाम के 59 सदस्य देशों सहित 123 साझेदार देशों को दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित की।

भारत कोरोना के नैदानिकी, चिकित्सा विज्ञान और टीके विकसित करने के वैश्विक प्रयासों में भी सक्रिय रहा है क्योंकि हम जानते और समझते हैं कि जब तक सभी सुरक्षित नहीं हैं, तब तक कोई भी सुरक्षित नहीं है। ‘उन्होंने कहा कि भारत ने परिवर्तनकारी रणनीतियों को अपनाया है और कई पहलों में तेजी लाई जिनका उद्देश्य सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज के मूल सिद्धांतों के अनुरूप था, जैसे प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल सहित स्वास्थ्य प्रणालियों को मजबूत करना, मुफ्त दवाओं और निदान तक पहुंच में सुधार करना और स्वास्थ्य देखभाल पर अत्यधिक खर्च को कम करना।