ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

बेरहम मां ने 7 महीने के बच्चे को बुरी तरह से पीटा, वीडियो हुआ वायरल

सोशल मीडिया पर अपने सात महीने के बच्चे की बेरहमी से पिटाई करने का मां का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने माता-पिता दोनों को समझाया है। अंबाझरी पुलिस थाने के निरीक्षक नरेंद्र हिवड़े ने बताया कि घटना महाराष्ट्र के नागपुर जिले के पंधाराबोदी इलाके में 24 मई को हुई। पुलिस ने बाल कल्याण विभाग को मामले का संज्ञान लेने को कहा था। इस वीडियो को किसी रिश्तेदार ने बनाया था, जिसमें सास से बहस के दौरान एक महिला कथित तौर अपने बेटे की पिटाई करती नजर आ रही है। वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद स्थानीय लोगों ने अंबाझरी पुलिस को घटना की जानकारी दी।

हिवड़े अपने एक दल के साथ रविवार को बच्चे के घर पहुंचे और उसे तथा उसके माता-पिता को पुलिस थाने ले आए। अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने बच्चे को कुछ खिलाया और उसके माता-पिता को समझाया। उन्हें बच्चे को ना मारने की सलाह दी और फिर जाने दिया। उन्होंने बताया कि बच्चे के पिता ढोलक बजाने का काम करते थे लेकिन कोविड-19 संबंधी पाबंदियों के कारण अभी वह बेरोजगार है। उन्होंने बताया कि बच्चे की दादी घरेलू सहायिका के तौर पर काम करती है और दो हजार रुपये महीना कमाती है, जिसे वह परिवार के खाने-पीने पर खर्च करती है। अधिकारी ने बताया कि एक पड़ोसी ने पुलिस को बताया कि बच्चे की मां और दादी के बीच पैसों को लेकर अकसर झगड़ा होता रहता है।