ब्रेकिंग
राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो वाले इस शेयर को खरीदने की सलाह दे रहे ब्रोकरेज फर्म, आएगा 39% का उछाल! बिहार में सभी पुराने सरकारी भवनों का होगा फायर सेफ्टी आडिट सितंबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 टी20 मैच खेलेगा भारत 8GB रैम और 512GB स्टोरेज के साथ आया नया फोल्डेबल स्मार्टफोन दाम बढ़ाने के बजाय पैकेट का वजन घटा रहीं कंपनियां नेपाल बिना हमारे राम अधूरे : पीएम मोदी जून में कर्ज और हो सकता है महंगा, RBI रेपो रेट में फिर से बढ़ोतरी का ले सकता है फैसला कई दिनों की बिकवाली के बाद आज बाजार में रही हरियाली, सेंसेक्स 180 अंक चढ़कर बंद, निफ्टी 15800 के करीब क्लोज खुशखबरी, क‍िसानों के खाते में इस द‍िन आएंगे 2000 रुपये! चेक कर लें अपना नाम महिला टी20 चैलेंज के लिए हरमनप्रीत, मंघाना और दीप्ति को मिली कप्तानी

विशाखापट्टनम नौसेना जासूसी मामला: NIA ने दायर किया गुजरात के शख्स के खिलाफ चार्जशीट

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी  (NIA) ने शुक्रवार को बताया कि इसने इमरान याकूब गितेली उर्फ गितेली इमरान (Imran Yakub Giteli aka Giteli Imran) के खिलाफ पूरक चार्जशीट दायर कर दी है। बता दें कि मामले में इमरान याकूब मुख्य आरोपी है। पिछले साल इस मामले में NIA ने भारतीय नौसेना की संवेदनशील जानकारी पाकिस्तान को लीक करने के आरोप में प्रमुख साजिशकर्ता मोहम्मद हारुन हाजी अब्दुल रहमान लकड़ावाला को गिरफ्तार किया था। विशाखापट्टनम जासूसी का मामला एक अंतरराष्ट्रीय रैकेट से संबंधित है, जिसमें पाकिस्तान में स्थित और भारत के विभिन्न स्थानों से जुड़े लोग शामिल हैं।

जांच एजेंसियों के मुताबिक 2018 के मध्य से विशाखापट्टनम, मुंबई और कारवाड़ बेस पर तैनात सात नौसेना कर्मी ISI हैंडलर को भारतीय नौसेना के जहाजों और पनडुब्बियों के बारे में संवेदनशील सूचनाएं लीक कर रहे थे। NIA प्रवक्ता ने कहा कि गोधरा निवासी गितेली  पर भारतीय दंड संहिता की अनेक धाराओं के तहत मामले दर्ज किए गए हैं। आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में NIA की विशेष अदालत में ये चार्जशीट दायर किए गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि गितेली का संपर्क पाकिस्तानी एजेंटों से था जिनसे वह हमेशा पाकिस्तान में मुलाकात किया करता था। प्रवक्ता ने बताया, ‘पाकिस्तानी ISI एजेंटों के निर्देशों पर वह नौसेना के खाते में धन भेजा करता था जिसके बदले में उसे संवेदनशील जानकारियां मिलती थीं।’ अधिकारियों ने बताया कि 38 वर्षीय गितेली अवैध तरीके से कपड़ों के बिजनेस की आड़ में आतंकियों के लिए धन उगाही करता था।

 NIA प्रवक्ता ने कहा कि गोधरा निवासी गितेली  पर भारतीय दंड संहिता की अनेक धाराओं के तहत मामले दर्ज किए गए हैं। आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में NIA की विशेष अदालत में ये चार्जशीट दायर किए गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि गितेली का संपर्क पाकिस्तानी एजेंटों से था जिनसे वह हमेशा पाकिस्तान में मुलाकात किया करता था। प्रवक्ता ने बताया, ‘पाकिस्तानी ISI एजेंटों के निर्देशों पर वह नौसेना के खाते में धन भेजा करता था जिसके बदले में उसे संवेदनशील जानकारियां मिलती थीं।’ नौसेना की खुफिया एजेंसी, सेंट्रल एजेंसियों व आंध्र प्रदेश की राज्य खुफिया विंग ने संयुक्त रूप से एक ‘डॉलफिन नोज’  नाम से ऑपरेशन को अंजाम दिया जिसमें इस पूरे मामले का पर्दाफाश हुआ।

वर्ष 2019 के दिसंबर में NIA ने जासूसी के इस मामले को अपने हाथ में लिया था। इसके बाद एजेंसी ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को संवेदनशील जानकारी लीक करने के आरोप में भारतीय नौसेना के 7 कर्मियों और एक कथित हवाला ऑपरेटर को भी गिरफ्तार किया था। पुलिस ने कहा था कि गिरफ्तार सभी अधिकारी पाकिस्तानी महिलाओं के संपर्क में थे, जिन्होंने फेसबुक पर उनसे दोस्ती की थी। आरोप है कि अधिकारियों को सूचना उपलब्ध कराने के एवज में हवाला ऑपरेटर के माध्यम से भुगतान किया गया था।