ब्रेकिंग
आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी ट्रक चोरी करने वाले 06 आरोपियो को किया गया गिरफ्तार, मंडी के पास लिंक रोड के किनारे खड़ी ट्रक को किया था चोरी, उड़ीसा से हुई बरामद रायपुर में शिवमहापुराण कथा:पंडित प्रदीप मिश्रा का प्रवचन सुनने लाखों लोग पहुंचे , अनुमान से अधिक लोगों के पहुंचने के कारण पंडित जी को कहना पड़ा घर में...

भाटापारा कोविड-19: संक्रमण रोकने-थामने नगरपालिका की संजीदगी नदारद

भाटापारा जरा हटके । प्रदेश के बड़े नगरिय निकाय भाटापारा नगर पालिका में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को रोकने के लिए यथोचित प्रबंध करने तत्परता नजर नहीं आ रही है।
बड़े-बड़े वादे, झूठी बातें तथा आश्वासन के बीच नगर की जनता को आम सुविधा दिलाने में भी पालिका पूरी तरह विफल दिख रही है।

संक्रमण से बचने कुछ उपाय करना जरूरी–

जनप्रतिनिधियों के प्रतिनिधियों के सहारे चल रही भाटापारा पालिका महामारी के दौर में दूसरे संक्रमण काल को रोकने अगर उचित कदम उठाए तो कुछ हद तक शहरवासियों को इससे राहत मिल सकती है। लॉकडाउन के दौरान बाजारों में सेनीटाइज तथा नगर के हर वार्ड में फागिंग मशीन का इस्तेमाल कर संक्रमण, प्रदूषण को हराया जा सकता है। नगर के हर बड़े चौक चौराहे वार्डों में फैली गंदगी से निजात दिलाने में लॉक डाउन का फायदा उठा अभियान चलाया जा सकता है। वार्ड पार्षदों तथा आम नागरिकों से ही मिल रही शिकायत के अनुसार नगर में बज बजाई नाली तथा फैली गंदगी लोगों का जीना मुश्किल कर रही है ।लगातार हो रही शिकायतों के बाद भी इस गंदगी से लोगों को राहत नहीं मिल पा रही है। नगर पालिका अपने दायित्वों को समझे और फोटो फैशन, बड़े-बड़े वादे को पीछे कर जनहित में कोई कारगर काम करें।

पालिका द्वारा किए गए कार्य पर उठ रहे सवाल–

पालिका द्वारा किए गए कार्य हमेशा से संदेह के दायरे में रहते हैं। कोरोना काल के प्रथम चरण के दौरान पालिका द्वारा अनेक जगह पानी टंकी लगा कर हाथ सैनिटाइज करने की व्यवस्था की गई थी। जो कि महज 15 से 20 दिनों बाद ही ध्वस्त नजर आई। नगर पालिका अधिकारी कर्मचारियों द्वारा चौक चौराहे में बिना मास्क लगाए लोगों से चालान वसूलना ही अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन समझते हैं। बिना मास्क लगाए लोगों चालान समझाइश देने चाहिए, पर जब नगर पालिका परिषद के भाजपा पार्षद द्वारा रसीद ना देने का आरोप लगाया जाता है, तो सोचनीय विषय हो जाता है।
——————————-
वायरस का तांडव बढ़ रहा
वैक्सिन सेन्टर 7० हज़ार की आबादी में अब एक वैक्सीन सेंटर चल रहा है। मेन हिंदी वाले सेंटर को दो बार चालू बंद किया जा चुका है । मातादेवालय का सेंटर भी बंद हो गया।वजह संख्या में कमी बतायी जा रही है।टिकाकरण लगभग पूर्णता की ओर है। लेकिन छुटे हुए लोग, भविष्य में खतरा बन सकते हैं।
पिछले कुछ दिनों से शहर में लगातार 100 से ज्यादा मरीज प्रतिदिन मिल रहे हैं , एवं जिंदगी की लड़ाई हारने वालों का आंकड़ा भी रोज बढ़ रहा है । ऐसे में समय पर लॉक डाउन एक महत्वपूर्ण निर्णय है। प्रशासन की कढ़ाई की बजाए आम जनता की जागरूकता ही अब इस पर रोकथाम लगा सकती है।