ब्रेकिंग
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट का किया वर्चुअल भूमि पूजन कुतुब मीनार परिसर में होगी खुदाई-मूर्तियों की Iconography राष्ट्रीय स्तर के खेलों का आधारभूत ज्ञान दें विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 13 हजार 976 किसानों के खाते में 9.68 करोड़ रूपए किया अंतरण नगरीय निकाय आरक्षण को लेकर बड़ी खबर: भोपाल में भी नए सिरे से होगा आरक्षण, बढ़ सकती है ओबीसी वार्डों की संख्या छत्तीसगढ़ की जैव विविधता छत्तीसगढ़ का गौरव है : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मोतिहारी के सिकरहना नदी में नहाने के दौरान तीन बच्चे डूबे मुजफ्फरपुर में प्रिंटिंग प्रेस कर्मी की गोली मारकर हत्‍या  दो माह में 13 बार बढ़ी सीएनजी की कीमत हार्दिक के जाने के बाद नरेश पटेल को रिझाने में जुटी कांग्रेस

बिलासपुर जोनल स्टेशन में कोरोना जांच, दो दिन में मिले 65 संक्रमित यात्री

बिलासपुर। जोनल स्टेशन में कोरोना जांच जारी है, जिसमें अब संक्रमित यात्रियों की संख्या तेजी से बढ़ने लगी है। केवल दो दिन में एंटीजन जांच से 65 यात्री संक्रमित मिले हैं। इस स्थिति ने स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। यही वजह है विभाग की टीम पहले से दो से तीन गुना अधिक यात्रियों की जांच कर रही है

स्टेशन में जब जांच शुरू हुई तब दो से तीन यात्री संक्रमित मिल रहे थे। पिछले दिनों यह आंकड़ा 10 के करीब पहुंच गया। पर दो दिन से संख्या अचानक बढ़ गई है। सोमवार को अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा रहा। इस दिन 42 यात्री संक्रमित मिले। मंगलवार को संख्या 23 रही। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार संक्रमितों में ज्यादातर महाराष्ट्र के हैं। जांच प्रभारी डा. मनीष सिंह ने बताया दो दिन में जिस तरह आंकड़े बढ़े हैं वह चिंतित करने वाला है।

इसीलिए स्टेशन में तैनात कर्मचारियों को और अधिक संख्या में यात्रियों की जांच करने के लिए कहा गया है। उन पर अब काम का दबाव बढ़ गया है। जितनी अधिक जांच कर संक्रमितों की पहचान की जाएगी उतनी ही तेजी से संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है। इसीलिए पूरी टीम जुटी है। संक्रमित मिलने के बाद तत्काल उन्हें संबंधित आइसोलेशन में भेजा जा रहा है।

जाने वाले यात्रियों की रिपोर्ट की जांच नहीं

जोनल स्टेशन में स्वास्थ्य विभाग उन सभी यात्रियों के 72 घंटे की रिपोर्ट जांच रहा है, जो अलग-अलग राज्यों से आकर बिलासपुर में यात्रा समाप्त कर रहे हैं, लेकिन वह यात्री जिनकी यात्रा यहां से शुरू हो रही है, उनकी रिपोर्ट की जांच नहीं हो रही है। जबकि नियमानुसार इनकी भी जांच होनी है। यह जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग और न रेलवे उठा रही है। रेलवे का कहना है कि उनके द्वारा लगातार उद्घोषणा के माध्यम से जांच रिपोर्ट रखने की जानकारी दी जा रही है। जिन यात्रियों के पास रिपोर्ट है उन्हें संबंधित स्टेशन में उतरने के बाद दिक्कत नहीं जाएगी। पर जिनके पास नहीं है, उनके लिए परेशानी हो सकती है।

आरटीपीसीआर जांच की नहीं मिल रही रिपोर्ट

शहर के केंद्रों के अलावा रेलवे स्टेशन में भी केवल बाहर से आने वाले यात्रियों की एंटीजन जांच हो रही है। यहां के सैंपल की सिम्स की लैब से होने वाली आरटीपीसीआर जांच बंद है। यह स्थिति करीब दो दिन से है। हालांकि दो से तीन दिन में आरटीपीसीआर जांच शुरू होने की संभावना जताई गई है।