ब्रेकिंग
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने जेपी हॉस्पिटल में स्वास्थ्य मेले की व्यवस्थाओं का जायजा लिया एकदंत संकष्टी चतुर्थी कल अप्रैल के जीएसटी कर भुगतान की तारीख बढ़ी वैश्विक स्तर पर अकेले वायु प्रदूषण से 66.7 लाख लोगों की मौत ऑनलाइन गेमिंग, कैसिनो पर 28 फीसदी जीएसटी लगाने की तैयारी, ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स ने दी प्रस्ताव को मंजूरी एक दिन की बढ़त के बाद फिसला बाजार, सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान में क्लोज, पॉवर ग्रिड सबसे ज्यादा लुढ़का पीएम आवास योजना को लेकर सरकार ने किया बड़ा ऐलान! सभी पर पड़ेगा असर कश्मीर घाटी में अभी और होगी बारिश, जम्मू में चल सकती है लू, अलर्ट जारी सुप्रीम कोर्ट ने एजी पेरारिवलन को रिहा किया फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया में आवेदन की प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जा सकती है

प्रवासी मजदूरों को खाना खिलाकर मरहम-पट्टी करा रही हमारी पुलिस

इंदौर। महाराष्ट्र से भूखे-प्यासे लौट रहे सैकड़ों लोग गोल चौराहा (राऊ) आते ही राहत महसूस करने लगते हैं। यहां तंबू लगाकर खड़े पुलिसवालों का अपनापन देखकर वे सारा दुख-दर्द भूल जाते हैं। सुराही में भरा ठंडा पानी, मालवा का देशी नाश्ता (सेंव-परमल), केले, बिस्कुट और खिचड़ी खाते ही भूल जाते हैं कि उनका सफर अभी बाकी है। जरूरतमंदों को स्वास्थ्य संबंधी मदद भी दे रहे हैं। घायल बालक की मरहम-पट्टी भी कराई।

नजदीकी राज्यों से पलायन की खबर मिलते ही तंबू लगाकर जवान यहां खड़े हो गए हैं। उप्र, गुजरात, महाराष्ट्र से आने-जाने वाला हर व्यक्ति गोल चौराहे से ही गुजरता है। टीआइ नरेंद्रसिंह रघुवंशी के अनुसार ज्यादातर लोग महाराष्ट्र से आते हैं। इस बार आने-जाने की समस्या तो नहीं है, लेकिन सफर लंबा होने से खाने-पीने की दिक्कत आती है। लोग दोपहिया और रिक्शा से सैकड़ों किमी की दूरी तय कर रहे हैं। बैठे-बैठे कमर दुखने लगती है। मंगलवार को पांच वर्षीय देवा को जख्मी देखा तो सिहर उठा।

पिता भूपेंद्र और मां और दादी के साथ मैहर जा रहा देवा एक दिन पहले नासिक से रवाना हुआ था। चाय-नाश्ता करने के लिए रिक्शा से उतरा तो पैर में कांच चुभ गया। मां ने पल्लू फाड़ कर लपेटा लेकिन खून बंद नहीं हो रहा था। प्रधान आरक्षक पुष्पा, आरक्षक मुलायम मिनी अस्पताल ले गए और गर्म पट्टी से सिंकाई की। दर्द निवारक गोलियां दीं और मरहम-पट्टी कर रवाना किया। टीआइ के अनुसार कैंप में बुखार, दर्द और विटामिन सी की गोलियां भी रखी गई हैं।

हाथ जोड़ कर गर्म खिचड़ी खिला रहे जवान

हाथ में डंडा लेकर दिखाई देने वाले जवान अगर हाथ जोड़े दिखें तो समझो हमने क्षिप्रा में प्रवेश कर लिया है। एसपी (पश्चिम) महेशचंद्र जैन ने यहां प्रवासी मजदूरों के लिए गरमागरम खिचड़ी की व्यवस्था की है। जैसे वाहनों की जांच होती है, वैसे थाने में पदस्थ सिपाही की बारी-बारी से ड्यूटी लगाई गई है। महाराष्ट्र पासिंग रिक्शा और बाइक देखते ही जवान हाथ जोड़कर नाश्ता करने की विनती करने लगते हैं। एसपी के अनुसार तंबू में बैठकर नाश्ता करने के बाद उनका मन करे तो हम पार्सल भी बना कर दे देते हैं।