ब्रेकिंग
गर्मी के चलते वेस्टर्न रेलवे ने 12 एसी लोकल ट्रेनें शुरू की, जानें कहां से कहां तक हैं ये ट्रेन पुलिस की सराहनीय पहल, प्रतिभावान छात्राओं के घर-घर जाकर किया सम्मानित, बच्चों ने आईएएस, डाॅक्टर व सीए बनने की जताई ईच्छा MP में तालों में कैद भगवान! MLA आकाश विजयवर्गीय बोले- जल्द खुलेगा बोलिया सरकार छत्री का शिव मंदिर एलपीजी गैस सिलेंडर पर लेना चाहते हैं सब्सिडी, फॉलो करें यह आसान प्रोसेस सूरज की तपिश से बादलाें ने दिलाई राहत बोरिंग माफियाओं की मनमानी से इंदौर में गहराया जल संकट नहीं रोक लगा पा रहा नगर निगम, आज भी रोजाना हो रहे 20-25 अवैध बोरिंग चीनी विमान जानबूझकर नीचे लाकर क्रैश कराया गया था श्रीराम सेना का दावा- कर्नाटक में 500 अवैध चर्च ग्राम देवादा में जल सभा का आयोजन एक ही परिवार के 3 लोगों के मर्डर का खुलासा, परिजन ही निकले हत्यारे, ये बनी हत्या की वजह

कोरोना काल में स्वास्थ्य कर्मियों पर एस्मा लगाने से बढ़ी नाराजगी

रायपुर।  छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ ने कोरोना काल में स्वास्थ्य कर्मियों पर एस्मा और शासकीय सेवकों का निबंलन को लेकर नाराजगी जताई है। संघ के प्रदेशाध्यक्ष विजय कुमार झा, जिला शाखा अध्यक्ष इदरीश खान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण और मौत, अंतिम संस्कार के भयावह स्थिति से संघर्ष कर कोरोना योद्धा शासकीय सेवक इमानदारी से अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रहे हैं।

कोरोना योद्धा भी मनुष्य हैं। उन्हें भी खाने, पानी, विश्राम करने की आवश्यकता है। तब भी वे प्रदेश की पीड़ित परेशान जनता की सेवा कर सकते है। छत्तीसगढ़ अत्यावश्यक सेवा विच्छत्रता अधिनियम 1979 लागू कर, अनुपस्थित शिक्षकों को निलंबित कर, कारण बताओ नोटिस जारी कर प्रशासनिक दादागिरी से कार्य कराने की नीति भयावह स्थिति उत्पन्न होगी।

इसी का परिणाम है कि जूनियर डाक्टरर्स ने हड़ताल किया। संघ ने मांग की दमनात्मक कार्रवाई बंद कर स्वास्थ्य, शिक्षा, पुलिस, राजस्व कर्मचारियों से प्रेमभाव, स्नेह व सम्मान कर्तव्यों के निर्वहन के लिए प्रेरित करने की अपील मुख्यमंत्री से की।