ब्रेकिंग
एक महीने में हुए चार 'दुराचारी सभा' में पहुंचे सिर्फ 844 हिस्ट्रीशीटर,दरी पर बैठना उन्हें नहीं पसंद बोले- 5 साल से कर रहा था तैयारी, अब बना राजस्थान का टॉपर गुरु अमरदास एवेन्यू के निवासियों ने ब्लॉक किया जीटी रोड, MLA के खिलाफ प्रदर्शन भूप्रेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा गांधीवादी तरीके से करेंगे विरोध, सरकार रद्द करके अग्निपथ फर्जी दस्तावेज तैयार कर कब्जाई थी जमीनें, पुलिस की गिरेबान पर हाथ डालने के बाद आया था चर्चा में सनी नागपाल भुवनेश्वर कुमार तोड़ेंगे पाकिस्तानी गेंदबाज का रिकॉर्ड डेब्यू मैच में फ्लॉप रहे उमरान मलिक घर में रखा फ्रिज सिर्फ उपकरण नहीं, है वास्तु शास्त्र की रहस्मयी व्याकरण... इस दिशा में रखने से चमक जाता है भाग्य पंचायत के प्रथम चरण के चुनावों के बाद EVM का हुआ रेंडमाइजेशन  जी-7 समिट में हिस्सा लेने जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी, प्रवासी भारतीयों ने गर्मजोशी से किया स्वागत

एम्स में मरीजों के लिए रेमडेसिविर की उपलब्धता बढ़ाएं-सुनील सोनी

रायपुर। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए सोमवार को रायपुर के सांसद सुनील सोनी ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के चिकित्सकों और अधिकारियों के साथ बैठक कर कोविड की चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए तैयार रहने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय महत्व का संस्थान होने की वजह से एम्स की मांग और इस पर दबाव अधिक है। ऐसे में चिकित्सकों और अधिकारियों को बड़ी संख्या में कोविड और नॉन कोविड दोनों प्रकार के रोगियों के उपचार के लिए तैयार रहने की आवश्यकता है।

बैठक में निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर ने बताया कि अभी कोविड-19 वार्ड में लगभग 450 रोगी हैं, जिनमें से 80 प्रतिशत को तुरंत आक्सीजन की आवश्यकता पड़ रही है और लगभग दस प्रतिशत को वेंटिलेटर की आवश्यकता पड़ रही है। ऐसे में दोनों की उपलब्धता को सुनिश्चित किया जा रहा है।

उन्होंने रेमडेसिविर की बढ़ती आवश्यकता के बारे में भी बताया, जिस पर सांसद सोनी ने रायपुर कलेक्टर से मोबाइल पर वार्ता एम्स को 500 रेमडेसिविर प्रतिदिन उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। कलेक्टर ने एम्स को अधिकतम रेमडेसिविर देने का आश्वासन दिया।

सांसद सोनी ने सभी चिकित्सकों, अधिकारियों, नर्सिंग स्टाफ और कर्मचारियों द्वारा दिन-रात की जा रही सेवा की सराहना करते हुए उन्हें इस चुनौतीपूर्ण समय में अपनी सेवाएं देने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना का पीक अभी बाकी है ऐसे में चिकित्सकों और संसाधनों का अधिकतम उपयोग सुनिश्चित किया जाना चाहिए। उन्होंने एम्स में बैड और वेंटिलेटर की संख्या को और अधिक बढ़ाने का भी सुझाव दिया।

उन्होंने सभी से दलगत राजनीति से ऊपर उठकर तन, मन और धन से कोविड रोगियों के उपचार में जुटने का आह्वान किया। बैठक में उप-निदेशक (प्रशासन) अंशुमान गुप्ता, कोविड के नोडल ऑफिसर डॉ. अजॉय बेहरा, उप-चिकित्सा अधीक्षक डॉ. रमेश चंद्राकर आदि उपस्थित थे।