ब्रेकिंग
सोमवार के दिन धन लाभ होगा या जाएंगे यात्रा पर, पढ़ें, आज का अपना राशिफल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट का किया वर्चुअल भूमि पूजन कुतुब मीनार परिसर में होगी खुदाई-मूर्तियों की Iconography राष्ट्रीय स्तर के खेलों का आधारभूत ज्ञान दें विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 13 हजार 976 किसानों के खाते में 9.68 करोड़ रूपए किया अंतरण नगरीय निकाय आरक्षण को लेकर बड़ी खबर: भोपाल में भी नए सिरे से होगा आरक्षण, बढ़ सकती है ओबीसी वार्डों की संख्या छत्तीसगढ़ की जैव विविधता छत्तीसगढ़ का गौरव है : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मोतिहारी के सिकरहना नदी में नहाने के दौरान तीन बच्चे डूबे मुजफ्फरपुर में प्रिंटिंग प्रेस कर्मी की गोली मारकर हत्‍या  दो माह में 13 बार बढ़ी सीएनजी की कीमत

आसमान में हल्के बादलों के साथ सूर्य ने तरेरी आंखे

बिलासपुर। न्यायधानी में हल्के बादल आसमान में छाया हुआ है। सूर्य ने भी अपनी तेज बरकरार रखा है। अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस के आसपास है। रात में पारा 24 डिग्री से अधिक है। जिसके कारण गर्मी का अहसास हो रहा है। मौसम विभाग की मानें तो शुक्रवार की शाम या रात तक हल्की बारिश की संभावना भी बनी हुई है।

बहतराई स्थित मौसम वेधशाला के मौसम विज्ञानी डा.एके दास के मुताबिक रात में बिलासपुर का न्यूनतम तापमान गुरुवार को 24.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। जबकि अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस था। आसमान में काले घने बादलों और सूर्य के बीच आंखमिचौली जारी है। मौसम विज्ञान केंद्र लालपुर से मिली जानकारी के अनुसार, एक उत्तर-दक्षिण द्रोणिका दक्षिण मध्य महाराष्ट्र से दक्षिण तमिलनाडु तक स्थित है। प्रदेश में बंगाल की खाड़ी से नमी आ रही है।

इसके प्रभाव से 23 अप्रैल को प्रदेश के दक्षिणी हिस्से में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ हल्की वर्षा होने या छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश के बाकी हिस्सों में हल्के बादल रह सकते हैं। प्रदेश में अधिकतम तापमान में मामूली वृद्धि संभावित है। गर्मी बढ़ने के साथ लोगों की समस्याएं भी बढ़ गई है। जल संकट गहरा गया है। हालांकी राहत की खबर यह है कि अप्रैल के दूसरे पखवाड़े में अधिकतम तापमान अभी 40 डिग्री के उपर नहीं पहुंचा है।

चक्रवात के कारण यह स्थिति बनी हुई है। मौसम विज्ञानियों की मानें तो फिलहाल अभी मौसम इसी तरह बना रहेगा। तापमान में बहुत अधिक वृद्धि की संभावना नहीं है। जिसके कारण प्रचंड गर्मी का अहसास अभी नहीं हो रहा है।