ब्रेकिंग

विधायक जुगल किशोर बागरी की स्थिति गंभीर, सतना से भोपाल रेफर

सतना। सतना जिले के रैगांव विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक व पूर्व मंत्री जुगल किशोर बागरी की कोरोना संक्रमित होने के बाद स्थिति नाजुक बनी हुई है। उन्हें राज्य सरकार के निर्देशों के बाद आज भोपाल के बंसल अस्पताल में इलाज के लिए एंबुलेंस से ले जाया गया है। दरअसल उन्हें तेज बुखार आया था जिसके बाद 24 अप्रैल को बिरला अस्पताल में उनकी सीटी स्कैन जांच भी हुई थी जिसकी रिपोर्ट नार्मल आई थी। इसके बाद उनकी कोरोना जांच के लिए एंटीजन रिपोर्ट सोमवार को रीवा से प्राप्त हुई थी जिसमें उनके कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हो गई। वे अपने घर में आइसोलेशन में थे लेकिन इसके बाद से ही उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी जिसके बाद उन्हें बिड़ला अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

कल रात को जब उनकी तबियत अधिक बिगड़ी तो सतना से लेकर भोपाल तक लोगों की चिंताएं बढ़ गई। बताया जा रहा है कि राज्य सरकार के निर्देश पर कल रात ही उनका हाल जानने सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया और पुलिस अधीक्षक धर्मवीर यादव बिड़ला अस्पताल पहुंचे। इस दौरान अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. संजय माहेश्वरी से भी चर्चा की गई। वहीं उनकी स्थिति खराब होने पर आज सुबह 10 बजे के लगभग उन्हें सतना से पहले भोपाल के चिरायू ले जाने कहा गया लेकिन बाद में भोपाल बंसल अस्पताल के लिए रेफर किया गया है। उन्हें लेकर एक एंबुलेंस कटनी दमोह होकर भोपाल के लिए रवाना हो चुकी है। जो भोपाल पहुंच रही है। प्रशासन ने तहसीलदार बीके मिश्रा व निरीक्षक पद के पुलिस अधीकारी को भी अलग से भेजा है ताकि भोपाल में उनके इलाज की व्यवस्था हो जाए।

सरकार नहीं लेना चाहती कोई खतरा मोल: 78 वर्षीय बुजुर्ग विधायक जुगल किशोर बागरी भाजपा के लिए अहम कड़ी हैं। ये सतना के रैगांव विधानसभा से लगातार जीतते आ रहे हैं। यहां इनका वर्चस्व इतना है कि उनके पुत्र को भी जब पार्टी ने एक बार टिकट दी तो वे भी नहीं जीत पाए। लेकिन पूर्व मंत्री रह चुके जुगल किशोर क्षेत्र के बड़े और बूढ़ों के बीच अपनी पैठ बनाए हुए हैं। इनके अलावा पार्टी के पास इस क्षेत्र से कोई दूसरा विकल्प नहीं रहता। यही कारण है कि सरकार इनके स्वास्थ को लेकर कोई खतरा मोल नहीं लेना चाहती। विधायक के संक्रमण की खबर पर सरकार भी गंभीर नजर आ रही है। ज्ञात हो की बीते दो माह पूर्व भी उनके बीमार होने पर एयर लिफ्ट कर भोपाल के बंसल हॉस्पिटल में उन्हें भर्ती कराया गया था। ऐसे में कोरोना के कहर को देखते हुए सरकार कोई रिस्क नहीं लेना चाहती है। इसलिए उन्हें अच्छी सुविधा और व्यवस्था का इलाज मिले इसके लिए भोपाल के चिरायू अस्पताल में रेफर किया गया है। इनके इलाज के लिए प्रशासनिक अधिकारियों की भी ड्यूटी लगाई गई है।

विधायक के निधन की फैलाई जा रही अफवाह- जैसे ही रैगांव विधायक जुगल किशोर बागरी की हालत गंभीर की चर्चाएं सोशल मीडिया में चलीं तो कुछ व्हाट्सएप ग्रुप में इनके निधन की सूचनाएं प्रसारित होने लगीं। जिसपर सफाई देते हुए विधायक के पुत्र पुष्पराज सिंह बागरी ने कहा है कि सोशल मीडिया में चल रही निधन की खबर अफवाह है। उन्होंने इस मामले में पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह से चर्चा कर इस प्रकार की अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग की है।