ब्रेकिंग
गर्मी के चलते वेस्टर्न रेलवे ने 12 एसी लोकल ट्रेनें शुरू की, जानें कहां से कहां तक हैं ये ट्रेन पुलिस की सराहनीय पहल, प्रतिभावान छात्राओं के घर-घर जाकर किया सम्मानित, बच्चों ने आईएएस, डाॅक्टर व सीए बनने की जताई ईच्छा MP में तालों में कैद भगवान! MLA आकाश विजयवर्गीय बोले- जल्द खुलेगा बोलिया सरकार छत्री का शिव मंदिर एलपीजी गैस सिलेंडर पर लेना चाहते हैं सब्सिडी, फॉलो करें यह आसान प्रोसेस सूरज की तपिश से बादलाें ने दिलाई राहत बोरिंग माफियाओं की मनमानी से इंदौर में गहराया जल संकट नहीं रोक लगा पा रहा नगर निगम, आज भी रोजाना हो रहे 20-25 अवैध बोरिंग चीनी विमान जानबूझकर नीचे लाकर क्रैश कराया गया था श्रीराम सेना का दावा- कर्नाटक में 500 अवैध चर्च ग्राम देवादा में जल सभा का आयोजन एक ही परिवार के 3 लोगों के मर्डर का खुलासा, परिजन ही निकले हत्यारे, ये बनी हत्या की वजह

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव और राजस्‍व मंत्री जयसिंह कोरोना संक्रमित, रिपोर्ट आई पॉजिटिव

रायपुर।  छत्‍तीसगढ़ के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री और राजस्‍व मंत्री कोरोना संक्रमित हो गए हैं। पिछले दिनों अंबिकापुर दौरे से वापस रायपुर लौटे स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव कोरोना संक्रमित हो गए। सेहत खराब होने पर जांच कराई गई। इनकी कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसकी पुष्टि खुद स्वास्थ्य मंत्री ने कर दी है। फ‍िलहाल, वह होम आइसोलेशन में हैं।

टीएस सिंह देव के अलावा राजस्‍व मंत्री जयसिंह अग्रवाल भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इनकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। मंत्री जय सिंह अग्रवाल का लक्षण के आधार पर जांच किया गया था। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। घर पर ही उनका उपचार किया जा रहा है।

टीएस सिंहदेव ने बताया है कि वे अभी स्वास्थ्य हैं एवं उन्हें किसी भी प्रकार के लक्षण नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने आग्रह किया है कि विगत दिनों में जिन लोगों से वे संपर्क में रहे हैं, उन्हें किसी भी प्रकार के लक्षण दिखाई देने पर वह अपनी कोरोना संक्रमण की जांच कराएं। सुरक्षित रहें।

इधर, चिकित्सक डाक्‍टर ओपी सुंदरानी ने बताया कि 60 वर्ष से अधिक मरीजों की मृत्यु अधिक हो रही है। इसलिए युवाओं को अपने बुजुर्ग परिजनों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। उन्होने कहा कि सर्दी, बुखार, थकावट, गंध न आना आदि लक्षण दिखने पर तुरंत जांच कराना चाहिए।

यदि मरीज को सांस लेने में तकलीफ हो रही है तो तुरंत अस्पताल जाएं और तब तक पल्स आक्सीमीटर से आक्सीजन स्तर नापते रहें। 95 प्रतिशत से कम होने पर चिकित्सक के पास तुरंत जाएं। इस बीच कुछ सीधे लेटें जिससे फेफड़ों मे हवा ठीक से जा सके।

राज्य टीकाकरण अधिकारी डाक्‍टर अमर सिंह ठाकुर ने बताया कि प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन में भारत सरकार द्वारा जारी सभी दिशा निर्देशों का पालन किया जा रहा है। राज्य शासन ने पृथक से कोई दिशा निर्देश नहीं जारी किए हैं। भारत शासन के दिशा निर्देश के अनुसार हेल्थ केयर वर्कर और फ्रंट लाइन वर्कर को शासकीय स्वास्थ्य केंद्रों में कोविड 19 का निःशुल्क टीका लग रहा है और यदि वे प्राइवेट अस्पताल में जाते हैं तो उन्हे शुल्क देना होगा। इसीलिए उनसे शासकीय केंद्रों में आकर टीका लगाने कहा जा रहा ताकि उन्हे शुल्क न देना पड़े।