ब्रेकिंग
गहलोत की सीएम कुर्सी भी हिलने लगी, दो दिन में सोनिया गांधी लेंगी फैसला खेलते-खेलते नाडी में डूबकर भाई-बहन सहित तीन की मौत सुवेंदु अधिकारी ने सीतारमण को लिखा पत्र, बंगाल सरकार पर फंड डायवर्ट करने का लगाया आरोप पोस्ट को लेकर गहलोत और पायलट समर्थक भिड़े पाकिस्तानी क्रिकेटर शहजाद आजम राणा का कार्डियक अरेस्ट के कारण हुआ निधन आईसीसी ने टी20 वर्ल्ड 2022 की प्राइज मनी का किया ऐलान माँ दुर्गा जी की तीसरी शक्ति का नाम ‘चन्द्रघण्टा’ है केमिकल स्टॉक ने दिया 52 हफ्ते का बेस्ट परफॉर्मेंस गत्ते के डिब्बे बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | Corrugated Cardboard Box Making Business in Hindi ऋचा चड्ढा और अली फजल की शादी की रस्में शुरू

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन का एलान, गांधी जयंती के दिन से सत्याग्रह का करेंगे आगाज

बिलासपुर। गांधी जयंती के दिन से छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी व सदस्य प्रदेशभर में सत्याग्रह की शुरुआत करेंगे। वेतन विसंगति के अलवा पदोन्नति व क्रमोन्नति को लेकर सरकार पर दबाव बनाएंगे और अपनी मांगे पूरी कराने की कोशिश करेंगे। सत्याग्रह के दौरान राज्य सरकार को उनकी चुनावी घोषणा पत्र की याद भी दिलाएंगे जिसे प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने जन घोषणा पत्र का नाम दिया है। राज्य सरकार और एसोसिएशन के बैनर तले शिक्षकों के बीच एक बार फिर टकराव की स्थिति निर्मित होने की अटकलंे लगाई जा रही है।

संघ के पदाधिकारियों का स्पष्ट मानना है कि सहायक शिक्षकों की वेतन विसंगति को पूर्व सेवा की गणना से ही दूर किया जा सकता है। इनका कहना है कि अगर पूर्व सेवा की गणना नहीं होगी तो संविलियन तिथि को ही प्रथम सेवा अवधि मानी जाएगी। ऐसी स्थिति में वेतन विसंगति को परिभाषित करना व्यवहारिक रूप से कठिन हो जाएगी। एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा का कहना है कि पूर्व सेवा की गणना मान्य होते ही 10 वर्ष की सेवा में क्रमोन्न्ति वेतनमान की सुविधा शिक्षकों को मिलनी शुरू हो जाएगी। इससे सहायक शिक्षक को उच्च वर्ग शिक्षक का 4200 ग्रेड पे वेतनमान का लाभ मिलेगा। पूर्व सेवा की गणना से ही पांच वर्ष में प्रधान पाठक प्राथमिक शाला व उच्च वर्ग शिक्षक पद पर पदोन्नति मिलेगी, जिनका वेतनमान भी 4200 ग्रेड पे होगा।

सत्याग्रह के दौरान वादों की दिलाएंगे याद

संघ ने रणनीति बनाई है कि दो अक्टूबर से चरणबद्ध ढंग से प्रारंभ होने वाले सत्याग्रह के दौरान राज्य सरकार, प्रदेश कांग्रेस कमेटी और विभाग के आला अफसरों को उनके द्वारा किए गए वायदों की याद दिलाएंगे। जन घोषणा पत्र के साथ ही प्रमुख सचिव शिक्षा द्वारा दिए गए आश्वासन को याद दिलाकर उसे पूरा करने दबाव बनाएंगे।