ब्रेकिंग
संजय गांधी टाइगर रिजर्व में बढ़ रही बाघों की संख्या, सैलानियों में भी हो रहा इजाफा सफीदों रोड पर 4 लोगों ने किया हमला, कोर्ट के आदेश पर FIR 50 लोगों को ट्रॉली में बेठाकर सड़क पर दौड़ रहा ट्रैक्टर, मूकदर्शक बनी पुलिस नॉर्थ कोरिया ने जापान के ऊपर से दागी बैलिस्टिक मिसाइल विद्याधाम परिसर गूंज रहा मां पराम्बा के जयघोष एवं स्वाहाकार की मंगल ध्वनि से वीडियो वायरल : एयरपोर्ट पर करीना कपूर के साथ बदसलूकी.. इस देवी मंदिर में है 51 फीट ऊंचे दीप स्तंभ, जान जोखिम में डालकर इन्हें कैसे जलाते हैं मां वैष्णो के दरबार में पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह हर रूप में स्त्री का सम्मान करने से प्रसन्न होती हैं मां जगदंबा Navratri Durga Ashtami: दुर्गाष्टमी आज, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और कन्या पूजन महत्व

धुआंधार से लापता फुफेरे भाइयों की तलाश में नर्मदा में उतरे गोताखोर, सेल्फी लेते समय बह गए थे दाेनों

जबलपुर। बुआ के घर रांझी आया युवक अपने फुफेरे भाई के साथ नर्मदा में बह गया। शुक्रवार हुए हादसे के बाद आज शनिवार को सुबह से गोताखोर नर्मदा में उतरे और रेस्क्यू शुरू किया। समाचार लिखे जाने तक गोताखोर दोनों की तलाश नहीं कर पाए थे। भेड़ाघाट के धुंआधार में हुए हादसे के दौरान दोनों युवक मोबाइल से सेल्फी ले रहे थे।

सेल्फी लेने के दौरान अनियंत्रित होकर नर्मदा के गहरे पानी में जा गिरे और देखते ही देखते लोगों की आंखों से ओझल हो गए। हादसे की सूचना मिलते ही भेड़ाघाट थाना प्रभारी शफीक खान बल सहित मौके पर पहुंचे। गोताखोरों की मदद से दोनों की तलाश के लिए नर्मदा में रेस्क्यू चलाया गया। दोनों का पता न चलने पर पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज किया है। भेड़ाघाट थाना प्रभारी ने बताया कि बड़ापत्थर रक्षानगर कालोनी रांझी निवासी शुभम टैगोर ने हादसे की सूचना दी थी

शुभम अपने भाई शिवांश टैगोर 19 वर्ष, सहारनपुर उत्तर प्रदेश से घूमने के लिए आए फुफेरे भाई लक्ष्य सहगल 22 वर्ष तथा मोहल्ले में रहने वाले साहिल चौधरी के साथ भेड़ाघाट घूमने गया था। धुंआधार जल प्रपात के पास शिवांश व लक्ष्य अपने-अपने मोबाइल से सेल्फी ले रहे थे। सेल्फी लेते समय उनका पैर फिसल गया जिससे दोनों नर्मदा नदी में गिर पड़े। लक्ष्य दिल्ली में पढ़ाई करता था तथा बुआ के घर घूमने के लिए कुछ दिन पहले ही जबलपुर आया था। इधर, हादसे की सूचना मिलते ही युवकों के स्वजन धुंआधार पहुंचे जहां रोने बिलखने लगे। गोताखोरों की तलाशी के दौरान भेड़ाघाट से लेकर सरस्वती घाट तक स्वजन तथा अन्य लोगों की भीड़ लगी रही।