ब्रेकिंग
मथुरा पुलिस के हाथ लगे संदिग्ध के फोटो, चोरों की तलाश में जुटी पुलिस इलेक्शन मोड में काग्रेस, इसलिए 'दागियों' पर अभी नो एक्शन डॉक्टरी-इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए भी सहयोग की व्यवस्था – मुख्यमंत्री चौहान अलवर पुलिस ने जीरो FIR दर्ज कर रेवाड़ी भेजी; महिला पर संगीन आरोप AAP सुप्रीमो ने ट्वीट लिखा- गुजरात का सह प्रभारी बनने के बाद AAP सांसद केंद्र के टारगेट पर टिफ़िन सर्विस का बिज़नेस कैसे शुरू करें | How to Setup Tiffin Service centre in hindi छत्तीसगढ़ के स्टार्टअप ईको सिस्टम को देखने जल्द आयेगा ऑस्ट्रिया का दल एंबुलेंस में पकड़े गए 25 करोड़ के फर्जी नोट नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया ने नगर पंचायत समोदा को प्रदान की एम्बुलेंस गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के करीबियों को मारने की बना रहे थे प्लानिंग, 4 पिस्टल रिकवर

मूर्ति के चारों ओर टिनशेड लगाया, दिन भर पुलिस रही तैनात

 ग्वालियर। शिवपुरी लिंक रोड स्थित चिरवाई नाके पर स्थापित सम्राट मिहिर भोज की मूर्ति को ढंकने को लेकर बीते रोज हुए उपद्रव के बाद प्रशासन ने रविवार को शिला पट्टिका को टिनशेड से कवर करा दिया। मूर्ति की सुरक्षा के लिए पुलिस के 25 जवान तैनात कर दिए। नात है। भीड़ को काबू करने के लिए इन जवानों को अश्रु गैस से लैस किया गया है। पुलिस ने गुर्जर बहुल क्षेत्रों में पेट्रोलिंग बढ़ा है और उपद्रवियों को चिन्हित करने का काम किया जा रहा है। इधर मुरैना में इस विवाद में अब उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का नाम भी जुड़ गया है। अखिलेश यादव के खिलाफ युवाअों ने रविवार को केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के अलावा मुरैना एसपी ललित शाक्यवार को आवेदन दिया है। जनसाधारण मंच ने आवेदन में लिखा है, कि अखिलेश यादव ने सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा के साथ पोस्ट करते हुए सम्राट मिहिर भोज को भिंड में गुर्जर महासभा ने राज्यपाल, सीएम को आनलाइन ज्ञापन भेजा

अखिल भारतीय गुर्जर महासभा के प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र गुर्जर ने शिला पट्टिका को ढंकने के विरोध में राज्यपाल और मुख्यमंत्री को आनलाइन ज्ञापन भेजा है। राजेंद्र गुर्जर ने बताया है कि ग्वालियर हाईकोर्ट ने कमेटी से इतिहास के तथ्यों के साथ रिपोर्ट मांगी है। प्रशासन ने शिला पट्टिका को टिन की चादर से ढंक दिया है। इससे युवाअों में आक्रोश है। उन्होंने शिला पट्टिका को खुला रखने की मांग की है। पिछले दिनों बसों में की गई तोड़फोड़ करने वालों के खिलाफ दर्ज किए गए केस को खत्म करने के लिए गुर्जर समाज ने एसडीओपी नरेंद्र सोलंकी को ज्ञापन दिया है। ज्ञापन के दौरान आशीष गुर्जर ने कहा कि एफआइआर निर्दाेष लोगों पर की गई है। निर्दोषों के खिलाफ खात्मा रिपोर्ट लगाई जाए। मांग पूरी नहीं होने पर पांच दिन बाद गोहद चौराहा थाना घेरने की चेतावनी दी गई है।

गुर्जर-प्रतिहार वंश का बताया और कहा, कि यह इतिहास में हमें पढ़ाया गया है, पर भाजपाइयों ने उनकी जाति की बदल दी। निंदनीय। युवाअों का आरोप है कि अखिलेश यादव ने बिना तथ्यों के यह पोस्ट की है, जो विवाद को बढ़ा सकती है। इसके साथ ही अम्बाह थाना परिसर में क्षत्रिय और गुर्जर समाज के वरिष्ठ नागरिकों को बुलाकर सद्भावना बैठक का आयोजन किया गया।

भिण्ड व मुरैना में रही शांति

– मिहिर भोज विवाद को लेकर ग्वालियर के अलावा मुरैना व भिण्ड में पिछले दिनों उपद्रव रहा। लेकिन लेकिन सोमवार को मुरैना व भिण्ड में शांति रही। किसी तरह का कोई तनाव या उपद्रव नहीं हुआ। हालांकि मुरैना में अभी भी धारा 144 लागू है।