ब्रेकिंग
जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 63 कैदी रिहा भारतीय वायुसेना में शामिल हुए हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर 'प्रचंड' छत्तीसगढ़: कुम्हारी हत्याकांड पर सियासी बवाल नशे का इंजेक्शन लगाकर गिरते-गिरते अपने मोटरसाइकिल तक पहुंचा युवक, सीधा खड़ा भी नहीं हो पाया पोहा बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें या पोहा मिल कैसे लगाये |Poha Making Business In Hindi कुम्हारी हत्याकांड पर सियासी बवाल युवती को पता चलने पर धमकाया, हिंदूवादी संगठन ने युवक की पिटाई की दुर्गोत्सवऔर दशहरा उत्सव मनाने ट्रैफिक पुलिस ने बनाया प्लान, शाम 5 बजे से रात दो बजे तक रूट रहेगा डायवर्ट महिलाओं ने की 18 किलोमीटर पैदल यात्रा, मां जालपा को ओढाई 72 मीटर लंबी चुनरी MP की सबसे लंबी मोहनिया सुरंग बनकर तैयार, जाने क्या है, खासियत

नीलश्री रेस्टाेरेंट का पनीर और माेर बाजार के मावे का सैंपल फेल

ग्वालियर। त्योहारी सीजन पर मिलावट को रोकने के लिए जो सैंपल लिए जाते हैं, उनकी दो-दो महीना तक रिपोर्ट नहीं आ रही है। अगस्त में रक्षाबंधन के त्योहार के आसपास जो सैंपलिंग की गई थी, उसके 104 सैंपल पेंडिंग हैं। अब नया त्योहारी सीजन आ गया। अगस्त की सिर्फ दो सैंपल की रिपोर्ट जारी हुई हैं, जिनमें शिवपुरी लिंक रोड स्थित नीलश्री ढाबा-रेस्टोरेंट का पनीर और मोर बाजार स्थित लक्ष्मी मावा भंडार के तीन मावा सैंपल फेल आए हैं। वहीं ग्वालियर के सैंपल अब इंदौर की निजी लैब में भी भेजे जा रहे हैं। ऐसा इसलिए किया गया है कि भोपाल की इकलौती लैब ओवरलोड है।

फूड सेफ्टी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार 12 अगस्त को शिवपुरी लिंक रोड स्थित नीलश्री ढाबा से पनीर का सैंपल लिया गया था, जिसकी सैंपल रिपोर्ट में वह फेल आया। 19 अगस्त को मोर बाजार स्थित लक्ष्मी मावा भंडार से मावा के तीन सैंपल लिए गए थे,यह तीनों सैंपल फेल आए हैं। फूड सेफ्टी की टीम ने मंगलवार को तुरारी रोड स्थित इंपायर रिसोर्ट का निरीक्षण किया, लेकिन यहां अभी रेस्टोरेंट को शुरू नहीं किया गया है इसलिए निरीक्षण कर अभिहीत अधिकारी लौट आए। वहीं बुधवार को डीडी नगर चौराहा स्थित श्रीराम स्वीट्स का निरीक्षण किया गया। यहां से सोयाबीन तेल और पनीर के सैंपल लिए। फर्म शंकर कुल्फी भंडार से दूध की बोतल से सैंपल लिया गया। फर्म श्रीराम किराना स्टोर से चना आटा का सैंपल लिया गया। अभिहित अधिकारी संजीव खेमरिया का कहना है सैंपल रिपोर्ट को लेकर पत्र लिखे गए हैं, फिर पत्र भेजेंगे। हमारा प्रयास यही रहता है कि जल्द सैंपल रिपोर्ट आएं।

बड़ा सवाल: कैसे रुकेगी मिलावट, पेंडेंसी का ढेरः रक्षाबंधन के त्योहार पर लिए गए सैंपलों की ही रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है और अब फिर त्योहारी सीजन आ गया है। टीम सैंपल तो लेती है, लेकिन सैंपल रिपोर्ट देर में आने से ठोस कार्रवाई नहीं हो पाती है, और उस खाद्य पदार्थ पर कोई रोक नहीं लग पाती है। वहीं अपर कलेक्टर आशीष तिवारी के जिला पंचायत सीइओ बनने के बाद से नए अपर कलेक्टर इच्छित गढपाले चार्ज लेंगे और न्याय निर्णयन अधिकारी बतौर खाद्य के मामलों का निराकरण करेंगे। अभी यह कार्रवाई रूकी हुई है।