ब्रेकिंग
एंबुलेंस को रास्ता देने के लिए रुका पीएम मोदी का काफिला मलबे में दबने से एक युवक हुआ घायल, हादसे के वक्त परिवार सदस्य बैठे थे बाहर, टला बड़ा हादसा जर्मनी 2023 में मंदी में प्रवेश करने के लिए तैयार: आर्थिक पूर्वानुमान तीनों आरोपी एसआईटी के तीन दिन की रिमांड पर दो दिन पहले घर से उठा ले गए थे चार भाई, वीडियो भी बनाया; तीन की तलाश जारी बीमा कंपनियों ने की 824 करोड़ की जीएसटी चोरी साकेत कोर्ट ने शरजील इमाम को दी जमानत पोहा बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें या पोहा मिल कैसे लगाये |Poha Making Business In Hindi बुमराह की जगह मोहम्मद सिराज टीम इंडिया में शामिल एमपीपीईबी व एमपीपीएससी में 5 साल से नहीं हुई भर्ती, छात्रों ने निकाली रैली

एसआइटी ने क्राइम सीन रिक्रिएट कर जाना, कैसे हुई मनीष की हत्‍या

गोरखपुर। मनीष गुप्ता हत्याकांड की जांच ट्रांसफर होने के बाद 16 घंटे के भीतर कानपुर एसआइटी (स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम) शनिवार को गोरखपुर पहुंच गई। टीम का नेतृत्व कर रहे अपर पुलिस आयुक्त आनंद कुमार तिवारी फोरेंसिक टीम के साथ होटल कृष्णा पैलेस (घटनास्थल) पहुंचे। मनीष की मौत के बाद सील किए गए होटल के कमरा नंबर 512 में पहुंचकर क्राइम सीन रिक्रिएट किया। इस दौरान गोरखपुर फोरेंसिक टीम के साथ ही गोरखपुर क्राइम ब्रांच की टीम भी मौजूद रही।

होटल पहुंचकर क‍िया सीन र‍िक्र‍िएट

एसआइटी के प्रभारी अपर पुलिस आयुक्त कानपुर आनंद कुमार तिवारी, डीसीपी दक्षिण रवीना त्यागी, एडिशनल डीसीपी पश्चिम बृजेश कुमार श्रीवास्तव और फाेरेंसिक टीम के साथ गोरखपुर पहुंचे। पुलिस अधिकारियों से घटना की जानकारी लेने के बाद कानपुर से आई फोरेंसिक टीम और कैंट पुलिस को लेकर होटल कृष्णा पैलेस पहुंचे। टीम के पहुंचने से पहले ही होटल को खाली करा दिया गया। होटल के मैनेजर और कर्मचारियों से पूछताछ करने के बाद एसआइटी प्रभारी कमरा नंबर 512 में पहुंचे। इसी कमरे में मनीष गुप्ता अपने दो अन्य दोस्तों के साथ ठहरे थे।

टीम ने की गहन जांच

घटना से जुड़े हर पहलु की बारिकी से जांच करने के बाद एसआइटी प्रभारी ने क्राइम सीन रिक्रिएट कराया। इसके बाद मामले की विवेचना कर रही गोरखपुर क्राइम ब्रांच की एसआइटी, एसपी क्राइम डा. एमपी सिंह, सीओ कैंट श्यामदेव बिंद को होटल में बुलाकर चार दिन में हुई छानबीन और कार्रवाई की जानकारी ली। गोरखपुर की फोरेंसिक टीम प्रभारी को बुलाकर घटना के बाद जुटाए गए वैज्ञानिक साक्ष्य को देखने के साथ ही सबका बयान दर्ज किया।देर रात तक एसआइटी की जांच जारी रही।

होटल का फुटेज कब्जे में लिया, बयान की हुई वीडियोग्राफी

एसआइटी ने होटल कृष्णा पैलेस में लगे सभी सीसी कैमरे का फुटेज देखा। 27 सितंबर को हाेटल पहुंचने के बाद मनीष गुप्ता कब कमरे में पहुंचे। दोस्तों के साथ भोजन करने के बाद कब लौट, रामगढ़ताल पुलिस रात में कितने बजे होटल पहुंची। कमरे में कितनी देर रही, किस स्थिति में मनीष और उनके दोस्तों को कमरे से लेकर बाहर निकली इसको जाना।