ब्रेकिंग
एक महीने में हुए चार 'दुराचारी सभा' में पहुंचे सिर्फ 844 हिस्ट्रीशीटर,दरी पर बैठना उन्हें नहीं पसंद बोले- 5 साल से कर रहा था तैयारी, अब बना राजस्थान का टॉपर गुरु अमरदास एवेन्यू के निवासियों ने ब्लॉक किया जीटी रोड, MLA के खिलाफ प्रदर्शन भूप्रेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा गांधीवादी तरीके से करेंगे विरोध, सरकार रद्द करके अग्निपथ फर्जी दस्तावेज तैयार कर कब्जाई थी जमीनें, पुलिस की गिरेबान पर हाथ डालने के बाद आया था चर्चा में सनी नागपाल भुवनेश्वर कुमार तोड़ेंगे पाकिस्तानी गेंदबाज का रिकॉर्ड डेब्यू मैच में फ्लॉप रहे उमरान मलिक घर में रखा फ्रिज सिर्फ उपकरण नहीं, है वास्तु शास्त्र की रहस्मयी व्याकरण... इस दिशा में रखने से चमक जाता है भाग्य पंचायत के प्रथम चरण के चुनावों के बाद EVM का हुआ रेंडमाइजेशन  जी-7 समिट में हिस्सा लेने जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी, प्रवासी भारतीयों ने गर्मजोशी से किया स्वागत

टीकरी बॉर्डर पर प्रदर्शनकारियों ने बनाए 25 पक्के मकान, 2000 और निर्माण की तैयारी

नई दिल्ली। तीनों कृषि कानूनों की रद कराने की मांग को लेकर पंजाब-हरियाणा और उत्तर प्रदेश समेत कई किसानों का धरना-प्रदर्शन सिंघु, टीकरी, शाहजहांपर और गाजीपुर बॉर्डर पर जारी है। लगातार घटती संख्या के बीच शनिवार को भी चारों बॉर्डर पर किसान जमा हैं और तीनों कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े हैं। किसान प्रदर्शनकारियों द्वारा सोनीपत में जीटी रोड पर पक्का निर्माण करने के बाद अब टीकरी बॉर्डर पर भी ऐसा ही नजारा सामने आया है। यहां पर किसान सोशल आर्मी (Kisan Social Army) स्थायी निर्माण बना लिया है और कई जगहों पर जारी है।

इस निर्माण को लेकर किसान सोशल आर्मी से जुड़े अनिल मलिक (Anil Malik, Kisan Social Army) का कहना है कि यहां पर निर्मित घर पक्के तौर पर मजबूती के साथ बनाए गए हैं, जैसे कि प्रदर्शनकारी  किसानों के हौसले हैं। अनिल मलिक ने बताया है कि टीकरी बॉर्डर पर अब तक 25 पक्के घर बना दिए गए हैं। 1000-2000 तक और घर इसी तरह बनाए जाएंगे।

उधर, सोनीपत स्थित जीटी रोड पर भी पंजाब की किसान जत्थेबंदी के नेता मनजीत राय भी स्वीकार किया है कि उनकी जत्थेबंदी यहां पर पक्का निर्माण करा रही है। मनजीत ने चुनौती देते हुए कहा कि यदि किसी में हिम्मत है तो इसे रोककर दिखाए। मनजीत राय ने तो यहां तक कहा है कि तीनों नए कृषि कानूनों से जितना हमारा नुकसान होगा, उसकी भरपाई यहीं से करके जाएंगे। हमारा जितना नुकसान होगा, उतना हम यहां कब्जा करके बैठ जाएंगे और प्लॉट भी काटेंगे। जागरण संवाददाता से मिली जानकारी के मुताबिक, जीटी रोड की पानीपत-दिल्ली लेन पर मुख्य मंच से थोड़ा आगे ईंट-सीमेंट से कमरे बनाए जा रहे हैं। अभी नींव पर काम चल रहा है।

रैन बसेरों का भी हो रहा निर्माण

बताया जा रहा है कि आंदोलनकारियों के लिए रैन बसेरे की तर्ज पर कमरे बनाए जा रहे हैं। चारों ओर से मोटी दीवार और ऊपर पराली की छत बनाने की तैयारी है। वहीं, जीटी रोड पर चल रहे पक्का निर्माण को रुकवाने पहुंचे पुलिस अधिकारियों की भी उन्होंने नहीं मानी। पुलिस अधिकारियों के सामने कुछ देर के लिए निर्माण अवश्य रुका, लेकिन उनके जाने के बाद फिर शुरू हो गया।

निर्माण कार्य की गति इतनी तेज है कि एक ही दिन में कमरे की दीवार करीब आठ फुट खड़ी कर दी गई है। अब आंदोलनकारी इसे डबल स्टोरी बनाने की योजना बना रहे हैं। वहीं, निर्माण रुकवाने पहुंचे कुंडली थाना प्रभारी इंस्पेक्टर रवि कुमार की मानें तो सड़क पर निर्माण अवैध है। फिलहाल काम बंद करवा दिया गया है। शनिवार को बातचीत कर अवैध निर्माण को हटवाया जाएगा।