अचानक पीला पड़ा चीन का बीजिंग शहर, दशक के सबसे खराब सैंडस्टॉर्म की भयावह तस्वीरें आई सामने

बीजिंग। चीन की राजधानी बीजिंग में सोमवार की सुबह लोगों के लिए डराने वाली तस्वीरें लेकर आई। सोमवार सुबह से ही बीजिंग में घनी भूरी धूल में लोगों की आंखें धंसी हुई थी, जिसके परिणामस्वरूप भीतरी मंगोलिया और उत्तर-पश्चिमी चीन के अन्य हिस्सों में भारी हवाएं चल रही हैं। बीजिंग में साल का सबसे खराब सैंडस्टॉर्म देखने को मिला है। चीन की मौसम विज्ञान एजेंसी ने इसे एक दशक में सबसे बड़ा सैंडस्टॉर्म कहा है। जिससे यहां स्थिति भयावह दिख रही है।

चीन मौसम विज्ञान प्रशासन ने सोमवार सुबह एक पीले अलर्ट की घोषणा करते हुए कहा कि सैंडस्टॉर्म इनर मंगोलिया से गांसु, शांक्सी और हेबै के प्रांतों में फैल गए है, जिसने बीजिंग को घेर लिया है। चीन की समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार, पड़ोसी मंगोलिया भी भारी रेत की चपेट में आ गया, जिसमें कम से कम 341 लोग लापता हैं। इनर मंगोलिया की राजधानी होहोट से उड़ानें भरी गई हैं।

बीजिंग का आधिकारिक वायु गुणवत्ता सूचकांक(Air Quality Index) सोमवार सुबह 500 के अधिकतम स्तर पर पहुंच गया, जिसमें तैरने वाले जिन्हें पीएम 10 के रूप में जाना जाता हैं कुछ जिलों में 2,000 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर तक पहुंच गए। विश्व स्वास्थ्य संगठन(डब्ल्यूएचओ) 50 माइक्रोग्राम से अधिक के औसत दैनिक पीएम 10 सांद्रता की सिफारिश करता है।

हर साल आता है सैंडस्टॉर्म 

बीजिंग मार्च और अप्रैल में नियमित रूप से सैंडस्टॉर्म का सामना करता है जो कि बड़े पैमाने पर गोबी रेगिस्तान के साथ-साथ पूरे उत्तरी चीन में वनों की कटाई और मिट्टी के कटाव के कारण होता है। चीन बीजिंग में कितनी रेत उड़ गई है, इसे सीमित करने के लिए इस क्षेत्र की पारिस्थितिकी को पुनर्जीवित करने और पुनर्स्थापित करने की कोशिश कर रहा है। जिस कारण ऐसे तूफान चीन में हर साल आते हैं।