ब्रेकिंग
केरल में भारी बारिश, IMD ने जारी किया येलो अलर्ट; खोले गए 2 बांध जयपुर से लौटे रमन, कहा- भाई-भतिजावाद और परिवारवाद की वजह से कांग्रेस की हुई ये स्थिति अब इस प्राइवेट सेक्टर के बैंक ने एफडी की ब्याज दरों में की बढ़ोतरी, जानें लेटेस्ट ब्याज दर NIA अफसर तंजील अहमद मर्डर केस में मुनीर और रैयान को फांसी की सजा ज्ञानवापी मामले में ‘शिवलिंग’ पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले प्रोफेसर रतन लाल को ज़मानत, जानें कोर्ट में क्या-क्या हुआ पेटीएम को हुआ 762 करोड़ रुपये का घाटा, कंपनी ने कहा- सही रास्ते पर कारोबार जिला जज को हैंडओवर की ज्ञानवापी केस की रिपोर्ट UP विधानसभा लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करेगी : सतीश महाना 'ठेके-पटटे, तबादला-तैनाती' से रहें दूर : सीएम योगी ईयर फोन का ज्यादा इस्तेमाल हो सकता है खतरनाक, कानों को हो सकते हैं ये गंभीर नुकसान

सीआरपीएफ आरक्षक को मोबाइल नंबर ब्लॉक होने का आया कॉल, फ‍िर जानिए ठग ने कैसे उड़ाए छह लाख

रायपुर। राजधानी रायपुर में इस बार सीआरपीएफ आरक्षक के साथ ऑनलाइन ठगी का मामला सामने आया है। आरोपितों ने आरक्षक को कॉल कर मोबाइल नंबर ब्लॉक होना बताकर बैंक खाते से कुल छह लाख 15 हजार रुपए उड़ा लिए। आरक्षक की शिकायत पर पुलिस ने मोबाइल नंबर धारक आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम तुलसी बाराडेरा स्थित सीआरपीएफ के 65 वीं बटालियन में पदस्थ प्रधान आरक्षक रामचंद्र यादव के पास 16 मार्च को एक अज्ञात मोबाइल नंबर से फोन आया, जिसने आरक्षक का मोबाइल नंबर ब्लॉक होने की बात कही और अनब्लॉक करवाने एक एप्लिकेशन लोड करवाया।

आरोपित ने इसके माध्यम से 10 रुपए का रिचार्ज करने को कहा, जिस पर जवान ने मोबाइल में नेट बैंकिंग ओपन कर 10 रुपए के रिचार्ज के लिए ओटीपी का एक बार प्रयोग किया। इसके बाद पीड़ित के बैंक खाते से आरोपित ने क्विक स्पोर्ट के माध्यम से चार बार में कुल छह लाख 15 हजार 153 रुपये निकाल लिया।

बता दें कि रायपुर में इस वक्‍त ठगों का गिरोह सक्रिय है। ऑनलाइन ठगी की वारदात रोज हो रही है। इसलिए आप भी सतर्क हो जाइए। किसी तरह के झांसे में न आएं। मोबाइल पर आने वाले ओटीपी को किसी से साझा न करें। बैंक से संबंधित शिकायत होने पर सीधे बैंक अधिकारी से ही मिलें ताकि ठगी से आप बच सकें।