ब्रेकिंग
सोमवार के दिन धन लाभ होगा या जाएंगे यात्रा पर, पढ़ें, आज का अपना राशिफल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट का किया वर्चुअल भूमि पूजन कुतुब मीनार परिसर में होगी खुदाई-मूर्तियों की Iconography राष्ट्रीय स्तर के खेलों का आधारभूत ज्ञान दें विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 13 हजार 976 किसानों के खाते में 9.68 करोड़ रूपए किया अंतरण नगरीय निकाय आरक्षण को लेकर बड़ी खबर: भोपाल में भी नए सिरे से होगा आरक्षण, बढ़ सकती है ओबीसी वार्डों की संख्या छत्तीसगढ़ की जैव विविधता छत्तीसगढ़ का गौरव है : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मोतिहारी के सिकरहना नदी में नहाने के दौरान तीन बच्चे डूबे मुजफ्फरपुर में प्रिंटिंग प्रेस कर्मी की गोली मारकर हत्‍या  दो माह में 13 बार बढ़ी सीएनजी की कीमत

चीन में जासूसी में गिरफ्तारी के दो साल बाद शुरू हुई कनाडाई नागरिक के खिलाफ सुनवाई

बीजिंग। चीन में जासूसी के आरोप में दो साल पहले गिरफ्तार किए गए कनाडा के एक नागरिक के खिलाफ अब जाकर अदालत में सुनवाई शुरू हुई। कनाडा में दिग्गज चीनी टेलीकॉम कंपनी हुआवे के एक वरिष्ठ कार्यकारी की गिरफ्तारी के जवाब में चीन में दो कनाडाई नागरिकों को जासूसी के आरोपों में पकड़ा गया था। इन दोनों के खिलाफ मुकदमों पर सुनवाई शुरू हो गई है।पूर्व कनाडाई राजनयिक माइकल कोवरिग मामले की सुनवाई बीजिंग की अदालत में सोमवार से शुरू हुई। जबकि कनाडाई उद्यमी माइकल स्पैवर के खिलाफ पूर्वोत्तर चीन के डेंगडोंग शहर की एक अदालत में शुक्रवार से सुनवाई प्रारंभ हुई।

कनाडाई दूतावास के उप प्रमुख जिम निकल ने पत्रकारों को बताया कि उन्हें ट्रायल शुरू होने की जानकारी मिली है, लेकिन कोर्ट में जाने की अनुमति नहीं दी गई। यह अंतरराष्ट्रीय और द्विपक्षीय प्रतिबद्धताओं का उल्लंघन है। उन्होंने बताया, ‘माइकल कोवरिग को गिरफ्तार हुए दो साल से ज्यादा समय हो गया है। अब उनके खिलाफ मनमाने ढंग से सुनवाई शुरू की गई है। हम देख रहे हैं कि अदालती प्रक्रियाएं पारदर्शी नहीं हैं।’ चीनी सरकार ने गिरफ्तार दोनों कनाडाई नागरिकों के खिलाफ आरोपों के बारे में तकरीबन कोई जानकारी मुहैया नहीं कराई है। हालांकि सरकारी अखबार ने गोपनीय जानकारियां चुराने और इन्हें विदेश भेजने के आरोप लगाए हैं।

फिलीपींस के जलक्षेत्र में घुसे चीन के 220 जहाज

ताइवान के बाद चीन का फिलीपींस को लेकर एक नया मामला सामने आया है। फिलीपींस के जलक्षेत्र में चीन के 220 सैन्य जहाजों के घुसने का मामला प्रकाश में आया है। इन जहाजों को सात मार्च को दक्षिण चीन सागर स्थित विवादित चट्टान के पास देखा गया। उधर, रविवार को ताइवान के वायु रक्षा क्षेत्र में चीन के लड़ाकू विमानों के घुसने का पता चला है। 17 मार्च के बाद यह पहला मौका है जब चीन के विमान ताइवान के रक्षा क्षेत्र में घुसे हैं।