ब्रेकिंग
शेयर बाजार में फिर गिरावट का दौर जारी मुख्यमंत्री चौहान संबल योजना के नये स्वरूप संबल 2.0 के पोर्टल का करेंगे शुभारंभ राहुल गांधी ने ऐसे कोई संकेत नहीं दिए कि वो पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ेंगे कांग्रेस चिंतन शिविर: राजस्थान से रायपुर लौटे CM बघेल, एयरपोर्ट पर कांग्रेसियों ने मिठाई खिलाकर किया स्वागत बैंक में पैसा जमा करने व निकालने के संबंध में लाया गया नया नियम, 26 मई से होगा प्रभावी मौनी रॉय की इन तस्वीरों पर दिल हारे फैंस, समुद्र के बीच से शेयर की ग्लैमरस PICS आज फिर बढ़ी सीएनजी की कीमतें CG में जिगरी दोस्त बने दुश्मन: साथियों ने बीच सड़क अपने दोस्त का मुंह किया काला, पीड़ित ने रो-रोकर पुलिस से बताई आपबीती रूह कंपा देने वाली घटना: यात्री बस ने बाइक सवारों को रौंदा, मां और बच्ची की मौके पर ही दर्दनाक मौत बिटक्वाइन 30 हजार डॉलर के नीचे अटका, Dogecoin, Shiba Inu, Solana भी गिरे

मेट्रो मैन ई श्रीधरन बोले- भाजपा को किंगमेकर बनने के लिए मिलेंगी पर्याप्त सीटें

पलक्कड़। मेट्रो रेल सहित पूरे भारत में कई प्रमुख परियोजनाओं को लागू करने वाले टेक्नोक्रेट, मेट्रो मैन ई श्रीधरन, केरल में भारतीय जनता पार्टी की सुखद लहर को लेकर आश्वस्त हैं। उन्होंने भविष्यवाणी करते हुए कहा कि या तो पार्टी के पास पूर्ण बहुमत आएगा या फिर पर्याप्त संख्या में सीटें हासिल होंगी, जो कि भाजपा को राज्य में एक किंगमेकर बनाएंगी।

केरल विधानसभा चुनाव के लिए अपने प्रचार अभियान के दौरान एएनआई के साथ बातचीत करते हुए, श्रीधरन ने विश्वास व्यक्त किया कि वह पलक्कड़ विधानसभा क्षेत्र जीतने जा रहे हैं। उन्होंने बातचीत में कहा, ‘मुझे लगता है कि भाजपा के पास केरल में सीटें जीतने की बहुत अच्छी संभावनाएं हैं। यह पूर्ण बहुमत हो सकता है या फिर राज्य में किंगमेकर बनने के लिए पर्याप्त संख्या मिल सकती है।

श्रीधरन, जो पलक्कड़ के मलमपुझा में गृह मंत्री अमित शाह के रोड शो का हिस्सा थे, ने इस कार्यक्रम को शानदार कहा, जिससे हजारों उत्साही लोग उत्साहित हो गए। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि इससे वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) और यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) सरकारों पर जबरदस्त प्रभाव पड़ेगा। जनता भाजपा को वोट देगी।

मेट्रो मैन कहे जाने वाले श्रीधरन ने रेखांकित किया कि टेक्नोक्रेट के रूप में काम करना एक राजनेता के रूप में काम करने से अलग है और कहा कि अगर वह चुने जाते हैं तो वह राज्य के लिए बहुत उपयोगी होंगे।

उन्होंने आगे कहा कि वह केरल में उद्योगों को लाने के लिए काम करेंगे। अगर NDA सत्ता में आती है, तो इसके जवाब में उन्होंने कहा, ‘आज केरल में शायद ही कोई उद्योग हो। केवल उद्योग राज्य में धन ला सकते हैं। रोजगार सृजन आवश्यक है क्योंकि केरल में सबसे अधिक बेरोजगार युवा हैं। मैं शिक्षा प्रणाली के मानक को ऊपर उठाने की कोशिश करूंगा। मैं एक पारदर्शी, कुशल और भ्रष्टाचार मुक्त सरकार लाने के लिए काम करूंगा।’

उन्होंने वाम मोर्चे पर हमला करते हुए आरोप लगाया कि वामपंथी दलों को भारतीय परंपरा के बारे में कोई ज्ञान नहीं है। बता दें कि 140 सदस्यीय केरल विधानसभा के लिए चुनाव 6 अप्रैल को होगा। विधानसभा चुनाव 2021 के लिए, केरल में मतदान केंद्रों की संख्या 21,498 से बढ़ाकर 40,771 कर दी गई है। मतों की गिनती 2 मई को होगी। 14 वीं केरल विधानसभा का कार्यकाल 1 जून, 2021 को समाप्त होगा। कुल 2,67,88,268 मतदाता 15 वीं विधानसभा के लिए केरल में उम्मीदवारों का चुनाव करेंगे।