दो दिन बाद मध्य प्रदेश के कुछ हिस्‍सों में चल सकती है लू

भोपाल। रविवार को एक पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान और उससे लगे पाकिस्तान पर सक्रिय हो गया है। उसके प्रभाव से उत्तर-पश्चिमी राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बन गया है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक इन दो सिस्टम के प्रभाव से हवाओं का रुख बदलेगा। इससे सोमवार से अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। सात अप्रैल यानी बुधवार से मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में लू चलने के भी आसार बन सकते हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक रविवार को राजधानी में अधिकतम तापमान 38.6 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, जो कि सामान्य से दो डिग्री अधिक रहा। प्रदेश में सबसे अधिक तापमान 41 डिग्री सेल्सियस खंडवा, होशंगाबाद और रतलाम में दर्ज किया गया। मौसम विशेषज्ञ अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान और उससे लगे पाकिस्तान पर सक्रिय है। ऊपरी हवा के चक्रवात में बना यह सिस्टम उत्तर भारत की तरफ बढ़ रहा है। इसके असर से उत्तर-पश्चिमी राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बन गया है। इस वजह से अब हवा के रुख में बदलाव होगा।

दक्षिणी और पश्चिमी हवाएं चलने से सोमवार से ही राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के कई जिलों में अधिकतम तापमान में धीरे-धीरे बढ़ोतरी होने लगेगी। उधर मंगलवार को एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ भी उत्तर भारत की तरफ बढ़ेगा। इस वजह से सात अप्रैल से गर्मी के तेवर तीखे होने लगेंगे। इस दौरान जबलपुर, शहडोल, होशंगाबाद, उज्जैन संभाग के जिलों में कहीं-कहीं लू भी चल सकती है। हालांकि गर्मी के तेवर सिर्फ दो दिन ही तीखे रहेंगे। इसके बाद पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत से आगे बढ़ते ही अधिकतम तापमान में फिर गिरावट का दौर शुरू होने लगेगा।